इस दिन से शुरू होने जा रहा है सावन का महीना, जानें सोमवार पूजा विधि और महत्व

Smart News Team, Last updated: Sat, 17th Jul 2021, 12:35 PM IST
  • सावन का महीना बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है. ये महीना पूरी तरह से भगवान शिव को समर्पित होता है. ऐसे में इस महीने के सोमवार का भी बेहद महत्व होता है.
सावन का सोमवार 2021

हिंदू धर्म में सावन के महीने का विशेष महत्व माना जाता है. इसके पीछे ये मान्यता है कि सावन का महीना पूरी तरह से महादेव यानी शिवजी को समर्पित होता है. भगवान शिव की इस महीने में भक्तगण विधि-विधान से पूजा अर्चना करते हैं.  इतना ही नहीं बल्कि सावन के महीने में जो भी सोमवार आता है उसका एक अलग ही महत्व भी माना जाता है. सावन का महीना इस बार 25 जुलाई से शुरू होने जा रहा है. तो वहीं 22 अगस्त को ये सावन का महीना खत्म हो जाएगा. ऐसे में ये जानना बहुत जरूरी है कि सावन के सोमवार को भगवान शिव की पूजा कैसे करना चाहिए. 

ये है सावन महीने की पूजा विधि

प्रात: काल उठकर स्नान अदि कर लें, और साफ- सुथरे वस्त्र पहन लें. घर में जिस जगह भी आपने मंदिर बना रखी है वहां दीप जलाएं. गंगा जल से सभी देवी-दावताओं का अभिषेक जरूर करें. दूध और गंगाजल शिवलिंग पर जरूर चढ़ाएं.  पुष्प भगवान शिव को जरूर ही अर्पित करें. भवान शिव को बेल पत्र बेहद ही प्रिय है इसलिए अर्पित करना ना भूलें.  पूजा के बाद भगवान शिव को भोग लगाना और आरती करना ना भूलें. भोग में भगवान शिव को सिर्फ सात्विक चीजें ही चढाएं. जितना अधिक से अधिक हो सके भगवान शिव का ध्यान रखें.

Masik Durga Ashtami 2021: मासिक दुर्गाष्टमी की जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

सावन महीने का महत्व

सावन के महीने का हिंदू धर्म में बहुत ही ज्यादा महत्व होता है. जो भी इस महीने में भगवान शिव की पूजा विधि-विधान से करता है देवों के देव महादेव उसकी सारी इच्छाएं पूर्ण करते हैं. जो भी इस महीने के सोमवार का व्रत रखता है उसकी मनोकामनाओं को भगवान शिव बहुत ही जल्द पूरी कर देते हैं. जिन लोगों की शादी विवाह में परेशानी आ रही है, उसे भगवान शिव की सावन के महीने में विशेष पूजा करनी चाहिए. अगर भगवान शिव की एक बार आप पर कृपा हो गई तो विवाह संबंधित सारी परेशानियां दूर हो जाएंगी. जो भी इस महीने में भगवान शिव की पूजा करते हैं उसके सभी पाप नष्ट हो जाते हैं, साथ ही मृत्यु के बाद उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है.

अन्य खबरें