मेन पावर बढ़ाने को मेडिकल कॉलेजों में रिक्त पदों के सापेक्ष शुरू हुई नियुक्तियां

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 01:00 AM IST
  • नेशनल मेडिकल कमिशन की ओर से भौतिक सत्यापन के दौरान उजागर हुई कमियों को दूर करने के लिए मेडिकल कॉलेजों में रिक्त पदों के सापेक्ष नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. जल्द ही नियुक्ति प्रक्रिया पूरी कर मेडिकल कॉलेजों को पूरी क्षमता के साथ संचालित किया जा सकेगा.
मेडिकल कॉलेजों में रिक्त पदों के सापेक्ष नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गई है

रांची . बता दें कि नेशनल मेडिकल कमिशन की टीम ने राज्य के पलामू, हजारीबाग और दुमका मेडिकल कॉलेजों का भौतिक सत्यापन किया था. भौतिक सत्यापन के दौरान टीम को इन मेडिकल कॉलेजों में भारी कमियां नजर आई थी. जिसके चलते नेशनल मेडिकल कमीशन ने इन मेडिकल कॉलेजों आधारभूत संरचनाओं में कमी का हवाला देते हुए इनके पंजीकरण पर रोक लगा दी है. इन मेडिकल कॉलेजों का प्रशासन भी मानता है कि कॉलेजों में रिक्त पड़े पदों के सापेक्ष मौजूद कर्मचारियों के कारण आधारभूत आवश्यकताएं पूरी संपन्न नहीं हो पा रही है. 

मेडिकल कॉलेज को संचालित करने के लिए पंजीकरण के मानकों को भी पूरा किया जाना अनिवार्य है. इसी को मद्देनजर रखते हुए इन मेडिकल कालेज प्रशासन ने अब रिक्त पड़े पदों पर कर्मचारियों की तैनाती की कार्रवाई शुरू कर दी है. इस क्रम में उक्त तीनों मेडिकल कॉलेजों के 22 विभागों में 159 पदों पर कर्मचारियों के नियुक्ति की जानी है.

ग्राहक कम आ रहे तो सैलून को बनाया कोरोना सेफ जोन

ट्यूटर और वरीय रेजिडेंट पदों के लिए उक्त मेडिकल कॉलेजों की ओर से नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. डेपुटेशन यानी मानदेय पर होने वाली उक्त पदों की नियुक्ति के लिए मेडिकल कॉलेजों की ओर से 21 और 22 दिसंबर को नामांकन को आरसीएच कैंपस स्थित इंस्टीट्यूट आफ पब्लिक हेल्थ में साक्षात्कार का आयोजन किया गया है. 3 वर्षों की अवधि के लिए होने वाली उक्त पदों पर नियुक्त होने वाले कर्मचारी को मेडिकल कॉलेजों की ओर से 75000 मासिक मानदेय निर्धारित किया गया है.

अन्य खबरें