यूट्यूब पर ऑनलाइन शिक्षा देकर बच्चों की जिंदगी रोशन कर रही धनबाद की रोशनी

Smart News Team, Last updated: Thu, 7th Jan 2021, 5:57 PM IST
  • कहते हैं कि इच्छाशक्ति हो तो हर काम आसान होता है. अपने मानवीय धर्म को निभाते हुए धनबाद की रोशनी इंटरनेट मीडिया यूट्यूब पर बच्चों को निशुल्क शिक्षा देकर उनकी जिंदगी रोशन कर रही है. आज ऑनलाइन शिक्षा पाने वाले 11 लाख बच्चे रोशनी से जुड़े हुए हैं.
मानवीय धर्म को निभाते हुए धनबाद की रोशनी इंटरनेट मीडिया यूट्यूब पर बच्चों को निशुल्क शिक्षा देकर उनकी जिंदगी रोशन कर रही है

रांची: साल 2016 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से सम्मान प्राप्त करने वाली रोशनी ने साल 2011 में यूट्यूब पर कक्षा 6 से लेकर 12 तक के बच्चों को निशुल्क ऑनलाइन शिक्षा देना शुरू किया था. झारखंड के झरिया जिले के कपड़ा व्यवसाई सुभाष अग्रवाल की पुत्रवधू रोशनी के पति गोपाल अग्रवाल बेंगलुरु में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है. इन दिनों अपने सॉफ्टवेयर इंजीनियर पति के साथ रोशनी बेंगलुरु में रह रही हैं. आज रोशनी की यूट्यूब क्लासेस में 11 लाख बच्चे निशुल्क शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं.

रोशनी बताती है कि उसने धनबाद के दिल्ली पब्लिक स्कूल से इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी के हंसराज कॉलेज से एमएससी भौतिक विज्ञान की पढ़ाई की. रोशनी ने बताया कि साल 2011 में एग्जाम फियर डॉट कॉम वेबसाइट बनाकर उसने यूट्यूब चैनल में बच्चों को पढ़ाने के लिए 5000 से अधिक वीडियो अपलोड किए. रोशनी ने बताया कि साल 2016 में राष्ट्रपति भवन में लंच कर पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से सम्मान प्राप्त करने के बाद इस काम में उनका उत्साह और बढ़ गया है. उन्होंने बताया कि बच्चों को शिक्षा देने से पहले उनकी नौकरी क्वालिटी एनालिस्ट के तौर पर एक कंपनी में लगी थी. कुछ समय काम भी किया था. इसी बीच घर में काम करने वाली बाई ने बताया कि उसके बच्चों की पढ़ाई ठीक नहीं चल रही है. टीचर ध्यान नहीं दे रहे हैं.

लालू यादव के जेल मैनुअल उल्लंघन केस में गुरुवार को सुनवाई करेगा झारखंड हाईकोर्ट

रोशनी बताती है कि उस काम वाली बाई की बातों से उसे नई राह मिली. इसके बाद से वह कक्षा 6 से लेकर 12 तक के बच्चों को वनस्पति विज्ञान जंतु विज्ञान भौतिक विज्ञान गणित व रसायन विज्ञान पढ़ाती चली आ रही है. बताया कि करीब 9 साल से वह बच्चों को निशुल्क ऑनलाइन शिक्षा दे रही हैं इससे उन्हें आत्म संतोष प्राप्त हो रहा है.

 

अन्य खबरें