वाराणसी: सामुदायिक शौचालय के निर्माण के लिए 12 गांवों को नहीं मिली अभी तक जमीन

Smart News Team, Last updated: Sat, 9th Jan 2021, 2:06 PM IST
वाराणसी में सामुदायिक शौचालय के लिए जिले के 12 कामों को अभी तक जमीन नहीं मिली है. पंचायत के प्रयास के बाद भी कहीं विवादित तो कहीं जनता के लिए अनुपयोगी जमीन मिलने से सामुदायिक शौचालय के निर्माण का काम अटका हुआ है.
सामुदायिक शौचालय के लिए 12 गांवों को अभी तक जमीन नहीं मिली है.

वाराणसी. सामुदायिक शौचालय के निर्माण के लिए वाराणसी के 12 गांवों को अभी तक जमीन नहीं मिली है. जानकारी के अनुसार आराजीलाइन ब्लॉक के रानी बाजार, चनार, शाहबाबाद, चिरईगांव ब्लॉक के छितौनी, गोबरहा, सरैयां, धोंनई, कोदारपुर , चोलापुर ब्लॉक में महमूदपुर, काशी विद्यापीठ ब्लॉक के लतवनपुर, परमानन्दपुर और महमूदपुर गांवों में शौचालय के लिए जमीन नहीं मिली.

आपको बता दें कि वाराणसी में प्रधानमंत्री की पहल पर ओडीएफ करने के लिए प्रशासन के स्तर पर तैयारियां चल रही थीं. लेकिन काफी प्रयास के बाद भी जिले के कुछ गांवों में सामुदायिक शौचालय के निर्माण के लिए जमीन नहीं मिली. डीएम ने राजस्व विभाग को जमीन की तलाश का निर्देश दिया है लेकिन इस पर कहीं विवादित जमीन मिली तो कहीं जनता के लिए अनुपयोगी जमीन मिली. जिसके बाद पंचायती जमीन नहीं होने की बात कह दी.

राम मंदिर निर्माण के धन संग्रह अभियान में रखी जाएगी पूरी पारदर्शिता- चंपत राय

जानकारी के अनुसार वाराणसी के 699 ग्राम पंचायतों में से 665 गांवों में सामुदायिक शौचालय का निर्माण होना है. इनमें अभी तक 12 शौचालयों पर छत डल चुकी है जबकि 10 दिन में प्लास्टर का काम चल रहा है. जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सभी पंचायतों को निर्देश दिया है कि आदर्श शौचालय के निर्माण में किसी तरह की कोई लापरवाही नहीं हो. सभी शौचालयों का निर्माण मानक के तहत कराया जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें