काम में ढील देना वाराणसी मंडी परिषद के डीडी को पड़ा भारी, 50 पर्सेंट वेतन पर रोक

Smart News Team, Last updated: 16/10/2020 01:15 PM IST
  • वाराणसी में मंडी परिषद के उपनिदेशक निर्माण (डीडी) का 50 फीसदी वेतन काम में लापरवाही के कारण रोक दिया गया.
काम में ढील देना के कारण वाराणसी मंडी परिषद के डीडी के 50 पर्सेंट वेतन पर रोक लगा दी गई

वाराणसी: जिला मंडी परिषद के डीडी को काम में लापरवाही करना काफी महंगा साबित हुआ है. काम में गैर जिम्मेदाराना रवैए के चलते वाराणसी के मंडी परिषद के उपनिदेशक (डीडी) निर्माण का 50 फीसदी वेतन रोक दिया गया है. ये फैसला निर्माण कार्यों की समीक्षा के बाद किया गया.

जानकारी के मुताबिक मंडी परिषद के उपनिदेशक (डीडी) निर्माण के खिलाफ मुख्यालय स्तर पर हुई समीक्षा में पाया गया कि सड़क को गड्ढा मुक्त नहीं किया गया है. साथ ही जिले में मरम्मत सम्बन्धी कार्यों को पूरा नहीं कराया गया है. जबकि इस बारे में मुख्यालय से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से निर्देश दिए जा रहे थे. इस कारण उनका वेतन रोक दिया गया है. मुख्य अभियंता जेपी सिंह की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि उनके निर्माण खंड की प्रगति 80 फीसदी से कम है. प्रगति संतोषजनक न होने से शासन स्तर पर आयोजित समीक्षा बैठक में विभाग की छवि धूमिल हुई है. 

यूपी 69000 शिक्षक भर्ती: काउंसिलिंग प्रक्रिया पूरी, आज मिलेंगे नियुक्ति पत्र

इसी कारण उनको यह निर्देश दिया गया है कि सम्बन्धित कार्यों को निर्धारित गु‌णवत्ता और विशिष्टियों का ध्यान रखते हुए शत-प्रतिशत पूर्ण कराए. साथ ही संबधित संयुक्त निदेशक (निर्माण ) कार्यों का सत्यापन/संस्तुति का प्रमाण प्रस्तुत करें. प्रगति और मुख्य अभियंता की संस्तुति के बाद ही शेष वेतन जारी किया जाएगा. बता दें कि ऐसा ही आदेश उपनिदेशक निर्माण (बस्ती) के लिए भी जारी किया गया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें