गैंगरेप के फरार आरोपी दरोगा की डेढ़ साल बाद गिरफ्तारी, इंस्पेक्टर की ट्रेनिंग के दौरान पुलिस ने धर दबोचा

Swati Gautam, Last updated: Wed, 15th Sep 2021, 2:36 PM IST
  • 2019 में बजरडिहा क्षेत्र में हुए महिला के साथ हुए गैंगरेप के आरोपी को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है. दरोगा उमराव खान सीतापुर स्थित पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर इंस्पेक्टर की ट्रेनिंग करने गया था जहां पुलिस ने आरोपी को धर दबोचा. बाकी आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी.
गैंगरेप के फरार आरोपी दरोगा की डेढ़ साल बाद गिरफ्तारी, इंस्पेक्टर की ट्रेनिंग के दौरान पुलिस ने धर दबोचा (फाइल फोटो)

वाराणसी. भेलूपुर पुलिस ने मंगलवार को डेढ़ साल से ज्यादा समय से फरार गैंगरेप के आरोपी को गिरफ्तार लिया है. आरोपी का नाम उमराव खान है. बताया जा रहा है कि दरोगा उमराव खान सीतापुर स्थित पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर इंस्पेक्टर की ट्रेनिंग करने गया था जहां पुलिस ने आरोपी को धर दबोचा. गिरफ्तारी के बाद आरोपी दरोगा उमराव खान को बुधवार को न्यायालय में भी पेश किया गया. आरोपी पर भेलूपुर के बजरडीहा क्षेत्र की एक महिला ने वर्ष 2019 में गैंगरेप का आरोप लगाया था जिसके चलते आरोपी को डेढ़ साल से ज्यादा समय में गिरफ्तारी हुई है.

क्या था मामला

मामला 2019 का है जब भेलूपुर के बजरडीहा क्षेत्र की एक महिला के साथ कुछ लोगों ने गैंगरेप किया था और इसका अश्लील वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था. पीड़िता ने जब वह वीडियो देखा तो उसने आरोपियों की पहचान की. महिला ने फरवरी 2020 को भेलूपुर थाने की पुलिस से संपर्क किया और तत्कालीन बजरडीहा चौकी पर तैनात दरोगा उमराव खान समेत बजरडीहा निवासी इब्राहिम, हाजी मैनुद्दीन और एक अन्य पर गैंग रेप का आरोप लगते हुए शिकायत दर्ज कराई.

NEET 2021: KGMU फाइनल इयर का छात्र गिरफ्तार, कई अहम खुलासे, पूछताछ जारी

महिला ने कोल्हुआ विनायका निवासी मो. शाहिद पर भी पीड़िता ने गैंगरेप का वीडियो वायरल करने का आरोप लगाया था. पुलिस के महिला की तहरीर पर बाकी के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली थी लेकिन दरोगा को पोस्टिंग कहीं और होने की वजह से दरोगा की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी. जिसे सालों बाद बजरडीहा चौकी प्रभारी अजय वर्मा के नेतृत्व में भेजी गई टीम ने अब जाकर ट्रेनिंग के दौरान पकड़ लिया गया. पुलिस ने बताया कि आरोपी दरोगा ने खुद को पुलिस के हाथों से छुड़ाने की काफी कोशिश की और अपनी ट्रेनिंग पूरी करने की गुजारिश भी की. लेकिन टीम ने कोर्ट के आदेश के हवाला देते हुए दरोगा को हिरासत में ले लिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें