वाराणसी: लोटा भंटा मेला की तैयारी पूरी, लेकिन प्रशासनिक तैयारियां अधूरी

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 04:16 PM IST
  • इस कोरोना महामृ के बीच रविवार को वाराणसी के रामेश्वर महादेव के पास लगने वाले लोटा भंटा मेले की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है. वहां के वाराणसी के प्रशासन की तरफ से अभी तक तैयारियां अधूरी है.
रामेश्वर महादेव लोटा घंटा मेला में प्रशासनिक तैयारियां अधूरी(प्रतिकातम चित्र)

वाराणसी के रामेश्वर में पंचकोशी के तीसरे तीर्थ पड़ाव स्थल पर सुप्रसिद्ध लोटा-भंटा मेला रविवार को लगेगा. मेला लगने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है, लेकिन इस कोरोना महामारी के बीच लगने जा रहे इस मेले में प्रशासन की तरफ से कोई तैयारी नहीं देखने को मिल रही है. प्रशासन की तरफ से किसी तरह की हलचल नहीं होने पर मेला संचालक और मेलार्थी थोड़े असमंजस की स्थिति में भी दिखाई दे रहे है. वहीं प्रशासन का कहना है की पुलिस-प्रशासन, विकास विभाग और राजश्व विभाग की तरफ से सभी व्यवस्थाए पूरी कर ली गई है.

यूपी: 36,590 नवनियुक्त शिक्षकों को CM योगी आदित्यनाथ ने दिए नियुक्ति पत्र

लोटा -भंटा मेले में वरुणा नदी में श्रद्धालु स्नान करके रामेश्वर महादेव का दर्शन करते है. दर्शन के बाद सभी श्रद्धालु मंदिर के पास ही दाल, बाटी, चोखा बनाते है और उसे रामेश्वर महादेव को भोग लगाते है। महादेव को भोग लगाने के बाद सभी श्रद्धालुं अपने मित्र और परिजनों के साथ भोजन ग्रहण करते है. भोजन ग्रहण करने के बाद सभी लोग वहां पर लगे मेले का आनंद उठाते है. अभी तक मेले की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है. मंदिर से लेकर घाट तक लाइट लग चुकी है. सभी झग साफ सफाई किया जा चूका है, वरुणा नदी में ट्यूब और रस्सिया लगा दी है.

वाराणसी: एनकाउंटर के डर से कांपे बदमाश, बंद किए एक्टिव मोबाइल फोन

मेले की तो सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है, लेकिन अभी तक प्रशासन की तरफ से कोई तैयारी नहिओ की गई है. हर साल मंदिर में सीसीटीवी कैमरा व मेटल डिटेक्टर लगाया जाता था, लेकिन इस बार कुछ भी नहीं लगाया गया है. वहीं पुलिस प्रशासन का कहना है कि जंसा एसओ सतीश कुमार सिंह व चौकी प्रभारी रामेश्वर मोहम्मद शाबान ने अपने स्तर पर सभी जगह की अच्छे से तलाशी ली है. वाराणसी से सटे सहित अन्य जिलों से भी लोग और दुकानदार रामेश्वर पहुंच चुके है. इस बार मेले में प्रशासन ने सभी झूलो को चलने से रोक लगा दी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें