वाराणसी एयरपोर्ट पर यात्रियों के लिए डीजी यात्रा की सुविधा, चेहरा ही बनेगा पहचान

Smart News Team, Last updated: 01/10/2020 07:34 AM IST
  • वाराणसी एयरपोर्ट पर डीजी यात्रा की शुरूआत अक्टूबर में हो जाएगी. इस सुविधा के शुरू होने के बाद यात्रियों को किसी भी तरह के कोई पहचान पत्र की जरुरत नहीं होगी. यात्री का चेहरा ही उसका आईडी कार्ड होगा.
वाराणसी एयरपोर्ट पर यात्रियों के लिए डीजी यात्रा की सुविधा, चेहरा ही बनेगा पहचान.

वाराणसी. वाराणसी एयरपोर्ट पर डीजी यात्रा की शुरूआत अक्टूबर में हो जाएगी. इससे यात्रियोंं को काफी फायदा मिलेगा. इस सुविधा के शुरू होने के बाद यात्रियों को किसी भी तरह के कोई पहचान पत्र की जरुरत नहीं होगी. यात्री का चेहरा ही उसका आईडी कार्ड होगा. 

यात्रियों को यात्रा के लिए आईडी प्रूफ या बोर्डिंग पास की जरूरत नहीं पड़ेगी. इसके लिए यात्रियों को आधार कार्ड और पासपोर्ट के माध्यम से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा.  चेहरे की स्कैनिंग होने के बाद यात्री को बोर्डिंग पास जारी किया जाएगा. डिजी यात्रा नियम से यात्रियों के लिए चैकिंग सिस्टम आसान बन जाएगा.

वाराणसी शहर में मिलने वाले 79 गाँव ना घर के रहे ना घाट के

जानकारी के मुताबिक, एयरपोर्ट निदेशक आकाशदीप माथुर ने बताया कि डीजी यात्रा की सुविधा के लिए वाराणसी एयरपोर्ट पर 12 अक्टूबर को डेमो किया जाएगा. इसको लेकर तैयारियां तेज कर दी गई है, एयरपोर्ट पर मशीन के इंस्टालेशन का काम भी तेजी से हो रहा है. 

वाराणसी: कोरोना काल में कल से खुल जाएगा पक्षी विहार और डियर पार्क

अधिकारियों ने बताया कि यह सुविधा सिर्फ घरेलू उड़ानों के लिए है. माना जा रहा है कि इसी के बाद से शुरू यह सुविधा एयरपोर्ट पर शुरू हो जाएगी. उड्डयन मंत्रालय ने बायोमेट्रिक ऑथाटिकेशन या फेशियर रिकाग्निशन की नई टेक्नोलॉजी शुरू की है. 

इस नई तकनीक से एयरपोर्ट पर यात्रियों को लम्बी लाइन से मिलेंगी राहत और उनका समय बचेगा. साथ ही यात्रियों को पहचान पत्र रखने की जरुरत भी नहीं होगी. क्योंकि, यात्रियों का चेहरा ही उनका पहचान बनेगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें