डायग्नोस्टिक सेंटर पर वैन को एंबुलेंस बनाकर चलाने का आरोप, नोटिस की तैयारी

Smart News Team, Last updated: 03/05/2021 04:34 PM IST
  • वाराणसी के करौली डायग्नोस्टिक सेंटर पर प्राइवेट वैन को एंबुलेंस बनाकर चलाने पर परिवहन विभाग नोटिस भेजने की तैयारी कर रहा है.
डायग्नोस्टिक सेंटर को भेजा जाएगा नोटिस

वाराणसी: कोरोना महामारी के दौरान लोग धड़ल्ले से गैरकानूनी काम में जुटे हुए हैं. यहां के गिलट बाजार स्थित करौली डायग्नोस्टिक सेंटर पर प्राइवेट वैन को एंबुलेंस बनाकर चलाने पर परिवहन विभाग नोटिस भेजने की तैयारी कर रहा है. एक हफ्ते में नोटिस का जवाब न देने पर वैन का रजिस्ट्रेशन निरस्त करते हुए धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा.

परिवहन विभाग की तरफ से डीएम को चिट्ठी भेजकर पूरे मामले की जानकारी दी जाएगी. रविवार को छुट्टी होने की वजह से नोटिस नहीं भेजी जा सकी थी. अब इस मामले में परिवहन विभाग आगे की कार्रवाई करेगा.

वाराणसी में जीते हुए प्रत्याशियों का आरोप- अधिकारी नहीं दे रहे सर्टिफिकेट

कैला देवी हेल्थ केयर सेंटर के नाम से एक प्राइवेट वैन परिवहन दफ्तर में रजिस्टर्ड है. दरअसल आरोप ये है कि अगर ये एंबुलेंस होती तो एंबुलेंस के नाम से परिवहन विभाग में इसका रजिस्ट्रेशन होता. लेकिन प्राइवेट वैन पर एंबुलेंस लिखकर उसमें मरीजों को लाने, ले जाने का काम हो रहा है, जो गैर कानूनी है.

वाराणसी में कोरोना के चलते यूनिवर्सिटी और कॉलेज 15 मई तक बंद

इस संबंध में करौली डायग्नोस्टिक सेंटर को नोटिस भेजकर एक हफ्ते में जवाब मांगा जाएगा. जवाब न देने पर वैन का रजिस्ट्रेशन रद्द करते हुए धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा. आपको बता दें कोरोना के चलते सभी लोग परेशान हैं. किसी को अस्पताल में बेड नहीं मिल पा रहा तो कोई ऑक्सीजन के लिए इधर-उधर भटक रहा है. ऐसे में कमाई के लिए प्राइवेट वैन को लोग एंबुलेंस बनाकर खूब वसूली कर रहे हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें