रिकार्ड 12 लाख दीयों से जगमगाएगी अवधपुरी, अयोध्या में 3 नवंबर को 'दीपोत्सव'

Atul Gupta, Last updated: Mon, 1st Nov 2021, 7:51 PM IST
  • भगवान राम की नगरी अयोध्या इस बार बारह लाख दीयों के साथ अपने भगवान का स्वागत करेगी. सरयू नदी का घाट 9 लाख दीयों की रौशनी से सराबोर रहेगा वहीं तीन लाख दीपक शहर भर में लगाए जाएंगे. इसके अलावा आतिशबाजी, लेजर शो और रामलीला का भी मंचन होगा.
अयोध्या में दीपोत्सव (फाइल फोटो)

अयोध्या: भगवान राम की नगरी कही जाने वाली अयोध्या में इस बार भी दिवाली धूम-धाम से मनेगी. 12 लाख दिए जलाकर अवधपुरी अपने भगवान का स्वागत करेगी. सरकार ने इस बाबत पूरी तैयारी कर ली है. पिछली बार के मुकाबले इस बार सरयू नदी के तट पर ज्यादा दीपक जलाए जाएंगे. पिछले साल 6 लाख दीयों से अयोध्या जगमगा रही थी लेकिन इस बार अयोध्या नगरी 12 लाख दीयो की रौशनी में नहाएगी. अकेले सरयू नदी पर 9 लाख दीपक जलाए जाएंगे वहीं बाकी बचे हुए तीन लाख दीपक शहर भर में लगाए जाएंगे.

जानकारी के मुताबिक पांच दिन चलने वाले दीपोत्सव कार्यक्रम के लिए विशेष तैयारियां की गई है. रामलीला के मंचन के लिए 3डी होलोग्राफिक डिस्पले लगाया गया है. इसके अलावा लेजर शो और आतिशबाजी का आयोजन किया गया है. सोमवार से लेकर शुक्रवार तक अलग-अलग दिन अलग अलग कार्यक्रम होंगे. 3 नवंबर यानी बुधवार को शाम 6 बजे से 6:30 बजे तक 12 लाख दीपक की रौशनी से पूरी अयोध्या नगरी सराबोर रहेगी.

दीपोत्सव कार्यक्रम में चार चांद लगाने के लिए श्रीलंका और नेपाल से कलाकारों को बुलाया गया है जो रामलीला का मंचन करेंगे. सोमवार को नेपाल के जनकपुर से आए रामलीला कलाकार रामलीला का मंचन करेंगे. उनके बाद जम्मू-कश्मीर, गुजरात, असम, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल के कलाकार अगले पांच दिन तक रामलीला का मंचन करेंगे. अयोध्या के डीएम नीतीश कुमार ने बताया है कि 3 नवंबर को सीएम योगी आदित्यनाथ और गवर्नर आनंदी बेन पटेल सांकेतिक रूप से भगवान राम, लक्षमण और माता सीता का स्वागत करेंगे जो पुष्पक विमान (हेलिकॉप्ट) से राम पार्क में उतरेंगे. यही नहीं इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ सरयू आरती भी करेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें