बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा गई साल 1963 की भोजपुरी फिल्म गंगा मैया तोहे पियरी चढ़इबो

Smart News Team, Last updated: 12/02/2021 05:13 PM IST
  • साल 1963 में रिलीज हुई भोजपुरी फिल्म गंगा मैया तोहे पियरी चढ़ाइबो ने बॉक्स ऑफिस पर खूब धूम मचाई थी. वाराणसी की टॉकीज में आई इस फिल्म के दौरान ज्यादातर महिलाएं पियरी पहने हुए टिकट विंडो पर कतार लगाए हुए दिखाई देती थी.
बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा गई साल 1963 की भोजपुरी फिल्म गंगा मैया तोहे पियरी चढ़इबो (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाराणसी : इस भोजपुरी फिल्म के रिलीज होने पर यह फिल्म वाराणसी के प्रकाश टॉकीज में लगी थी. उस समय 22 फरवरी 1963 को प्रकाश टॉकीज में भव्य प्रीमियम के साथ इस फिल्म के प्रीमियर को रिलीज किया गया था. जिसे देखने के लिए गवई महिलाएं गंगा मैया को चढ़ाई गई पियरी पहनकर प्रकाश टॉकीज पर फिल्म देखने के लिए कतार लगाती थी. 

इस फिल्म की पटकथा लहुरी काशी के नाम से विख्यात गाजीपुर के उभरते कलाकार व फिल्मकार नासिर हुसैन ने लिखी थी. फिल्म में निर्देशन कुंदन कुमार ने दिया था. दशकों बाद भी यह फिल्म पुरवइया के झोंके जैसी ताजगी का एहसास कर आ जाती है. इनसाइक्लोपीडिया के रूप में लोकप्रिय अशोक पांडे बताते हैं कि किस तरह जिद करके उन्होंने अपने माता पिता के साथ यह फिल्म देखी थी. 

वाराणसी : अब मॉडल बनेंगे सांसद आदर्श गांव

कहते हैं कि माता-पिता के साथ देखी गई यह फिल्म उनके जीवन की अकेली फिल्म कथा है. अशोक पांडे बताते हैं कि यह फिल्म वाराणसी में कई महीनों तक लगी रही. बताया कि इस फिल्म ने अपार लोकप्रियता हासिल करते हुए भोजपुरी सिनेमा की नींव साबित हुई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें