BHU के डॉक्टर को छात्रों ने निजी अस्पताल में प्रैक्टिस करते पकड़ा, हंगामा

Smart News Team, Last updated: Wed, 16th Sep 2020, 8:00 AM IST
  • वाराणसी के लंका क्षेत्र में स्थित एक निजी अस्पताल में बीएचयू के डॉक्टर को प्राइवेट प्रैक्टिस करते हुए छात्रों ने पकड़ा है. छात्रों का कहना है कि बीएचयू के जूनियर और रेजिडेंट डॉक्टर प्राइवेट अस्पतालों में प्रैक्टिस करने आते हैं. 
बीएचयू के डॉक्टर को निजी अस्पताल में प्रैक्टिस करते हुए पकड़ा.

वाराणसी. बनारस के लंका क्षेत्र में स्थित एक निजी अस्पताल में मंगलवार की रात बीएचयू के छात्रों ने सुंदरलाल अस्पताल के डॉक्टर को प्रैक्टिस करते हुए पकड़ लिया. छात्रों ने निजी अस्पताल पर ही हंगामा करना शुरू कर दिया. छात्रों ने आरोप लगाया है कि बीएचयू के डॉक्टर आस-पास के निजी अस्पतालों में प्राइवेट प्रैक्टिस करने जाते हैं. बीएचयू के छात्रों का कहना है कि वह इस मामले की शिकायत बुधवार को चिकित्सा अधीक्षक से करेंगे. 

मंगलवार की रात निजी अस्पताल के बाहर छात्रों का हंगामा देखकर डॉक्टर ने अपने आप को कमरे में बंद कर लिया. छात्रों का कहना है कि दिन में बीएचयू डॉक्टर के ड्राईवर को भी छात्रों द्वारा पकड़ा गया था. ड्राईवर का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल किया गया था.

छात्रों को हंगामा करते देख निजी अस्पताल ने पुलिस में शिकायत दर्ज कर दी. मौके पर पहुंच लंका पुलिस ने छात्रों को समझाकर अस्पताल से हटाया. पुलिस और छात्रों की बातचीत के दौरान अस्पताल प्रसाशन ने डॉक्टर को भगा दिया. छात्र ट्रामा सेंटर पहुंचे और एनेस्थीसिया विभाग के डॉक्टर के बारे में जानकारी लेने की कोशिश करने लगे.   

वाराणसी में आकाशीय बिजली गिरने से युवक की मौत, एक महिला भी झुलसी

छात्रों के अनुसार प्राइवेट अस्पताल में प्रैक्टिस के लिए बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल और ट्रामा सेंटर से जूनियर और रेजिडेंट डॉक्टर प्राइवेट अस्पतालों में काम के लिए जाते हैं. छात्रों ने इस मामले की शिकायत सर सुंदरलाल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट के साथ बीएचयू के कुलपति से भी करेंगे. 

वाराणसी: समोसा छानने के लिए रखे खौलते तेल की कड़ाही में गिरने से बच्ची की मौत

भेलूपुर चक्रपाणि त्रिपाठी ने कहा कि 112 डायल पर किसी छात्र ने सूचना दी थी. हालांकि लंका पुलिस ने मौके पर पहुंचकर देखा भी लेकिन कोई सरकारी डॉक्टर नहीं मिला. छात्रों को समझाकर हटा दिया गया. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें