BHU के प्रोफेसर और भूगर्भ वैज्ञानिक एमएस. श्रीनिवासन का कोरोना से निधन

Smart News Team, Last updated: 30/04/2021 11:17 PM IST
भारत के विश्व प्रसिद्ध भू गर्भ वैज्ञानिक प्रोफेसर एमएस श्रीनिवासन का बीएचयू के अस्पताल सर सुंदरलाल में गुरुवार दोपहर को कोरोना से निधन हो गया. इसी दौरान पूर्वांचल के सुप्रसिद्ध हॉकी खिलाड़ी तेज बहादुर सिंह का कोरोना से निधन हो गया. उन्होंने ही करमपुर इलाके में मेघबरन हॉकी अकादमी की स्थापना की थी.
भूवैज्ञानिक एमएस श्रीनिवासन (दाएं) और हॉकी खिलाड़ी तेज बहादुर सिंह (बाएं) का निधन. (फाइल फोटो)

वाराणसी : प्रसिद्ध भूगर्भ वैज्ञानिक एम एस श्रीनिवासन का कोरोना संक्रमण से गुरुवार दोपहर को निधन हो गया. प्रोफेसर एमएस श्रीनिवासन पिछले 3 दिनों से बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल में वेंटिलेटर पर थे. उनके निधन की जानकारी उनके शिष्य प्रोफेसर अरुण देव सिंह ने दी. 83 वर्ष के प्रोफेसर एमएस श्रीनिवासन ने देश के कई संस्थानों में माइक्रोपैट्रोलॉजी विभाग के संस्थापक सदस्य के रूप में जाना जाता है.वैज्ञानिक श्रीनिवासन बीएचयू से शिक्षा प्राप्त की थी. उसके बाद 1965 में विक्टोरिया यूनिवर्सिटी ऑफ वेलिंगटन से पीएचडी किया. श्रीनिवासन आईयूजीएस कमेटी के दो बार चेयरमैन भी रह चुके हैं. साथ ही ग्रेजुएट स्कूल ऑफ को ओशनोग्राफी में साइंटिस्ट के रूप में अपनी सेवा दी. श्रीनिवासन को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई बड़े पुरस्कार मिल चुके हैं.बीएचयू में प्रोफेसर श्रीनिवासन के जीवित रहते हुए भी इनके नाम से गोल्ड मेडल दिया जाता है.

इस बीच पूर्वांचल में हॉकी का पितामह माने जाने वाले तेज बहादुर सिंह का आज कोरोना से निधन हो गया. 70 वर्षीय तेज बहादुर सिंह का बीएचयू के कोरोना सेंटर में इलाज चल रहा था. तेज बहादुर सिंह ने मेघबरन हॉकी अकादमी, करमपुर के संस्थापक थे. शेरे पूर्वांचल के नाम से प्रसिद्ध तेज बहादुर सिंह को बनारस, गाजीपुर, करमपुर, मिर्जापुर पूर्वांचल क्षेत्रों में हॉकी खेल को प्रसिद्ध करने का श्रेय जाता है. तेज बहादुर सिंह के निधन से हॉकी जगत के कई खिलाड़ी ने दुःख प्रकट किया है. तेज बहादुर सिंह को जानने वाले बताते हैं की यह खिलाड़ी जितना बेहतरीन खेलता था उससे भी ज्यादा बेहतरीन उनका व्यवहार और मीठा बोलचाल था.

वाराणसी में काशी कवच सुविधा लॉन्च, घर बैठे होगा मरीजों का इलाज

वाराणसी पिछले 24 घंटों में कुल 1690 संक्रमित केस पाए गए हैं. जिससे वाराणसी शहर में कुल एक्टिव केस की संख्या 16345 हो गई है. वाराणसी शहर में आज 1900 लोग होम आइसोलेशन में रहकर कोरोना को मात दिए हैं. साथ ही 3394 लोगों को हॉस्पिटल से छुट्टी दी गई है. पूरे वाराणसी में अब तक 65416 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. अब तक वाराणसी में मरने वालों की संख्या 556 रहीं है.

वाराणसी: स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस ट्रेन के सामने कूदकर सिपाही ने दी जान

CM योगी की नई रणनीति! लोगों को सहायता देने के लिए टीम-9 को दी पूरी जिम्मेदारी

1 मई को UP के इन 7 जिलों में होगा 18+ वालों का टीकाकरण, क्या आपका शहर है शामिल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें