सामाजिक विज्ञान संकाय के केंद्रों पर 17 करोड़ रुपए से संसाधन विकसित करेगा बीएचयू

Smart News Team, Last updated: Wed, 3rd Feb 2021, 7:03 PM IST
  • बीएचयू ने सामाजिक विज्ञान संकाय में संचालित दीनदयाल उपाध्याय और जयप्रकाश नारायण सेंटरों पर शोध संसाधन विकसित करने के लिए 17 करोड़ रुपए खर्च करने का निर्णय लिया है. इस प्रस्ताव को संकाय स्तर पर बनी पॉलिसी प्लानिंग कमेटी की मंजूरी मिल गई है. अब यह प्रस्ताव शिक्षा मंत्रालय को भेजा जाएगा.
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (फाइल तस्वीर)

वाराणसी : बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान संकाय में पंडित दीनदयाल उपाध्याय केंद्र और जयप्रकाश नारायण सेंटर संचालित है. इन केंद्रों पर संचालित विभिन्न कोर्सों के छात्र अध्ययनरत है. लेकिन इन केंद्रों पर अध्ययनरत छात्रों के लिए शोध संसाधनों की कमी है. इस कमी को पूरा करने के लिए सामाजिक विज्ञान संकाय प्रशासन की ओर से एक प्रस्ताव तैयार किया गया था. दोनों केंद्रों पर शोध संसाधन विकसित करने के लिए 17 करोड़ रुपए खर्च करने का निर्णय लिया गया था.

 मंगलवार को सामाजिक विज्ञान संकाय स्तर पर गठित पॉलिसी प्लानिंग कमेटी यानी पीपीसी की बैठक हुई इस बैठक में दोनों केंद्रों परसों संसाधन विकसित करने पेश किए गए प्रस्ताव को लेकर चर्चा हुई. बैठक में निर्णय लिया गया कि जयप्रकाश नारायण अध्ययन केंद्र पर 10 करोड़ 45 लाख 25000 रुपयों से शोध संसाधन विकसित किए जाएंगे. जबकि दीनदयाल उपाध्याय अध्ययन केंद्र के लिए तैयार किए गए छह करोड़ 97 लाख 55 हजार के प्रस्ताव को बैठक में मंजूरी प्रदान की गई. 

वाराणसी : 60 फ़ीसदी तक खराब है रोडवेज की किराया मशीनें, यात्री हो रहे परेशान

इस संबंध में सामाजिक विज्ञान संकाय प्रमुख प्रोफेसर कौशल किशोर मिश्रा ने बताया कि दोनों अध्ययन केंद्रों पर शिक्षकों और कर्मचारियों के अलग-अलग पदों का सृजन किया गया है. अब पीपीसी की बैठक में बजट के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है. आगे की कार्रवाई के तौर पर अब विश्वविद्यालय की ओर से शिक्षा मंत्रालय को इस बाबत प्रस्ताव भेजा जाएगा. शिक्षा मंत्रालय की ओर से प्रस्ताव को स्वीकृति मिलने के बाद इन दोनों केंद्रों को विकसित करने की कार्यवाही शुरू की जाएगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें