BHU की महिला प्रोफेसर ने आग लगाकर दी जान, चिल्लाती रही घर में खेल रही बेटी

Smart News Team, Last updated: Mon, 19th Jul 2021, 5:21 PM IST
  • काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के माल्क्यूलर व ह्यूमन जेनेटिक विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर किरण सिंह ने आग लगाकर जान दे दी. घटना के समय उनकी बेटी भी घर में मौजूद थी. बेटी चिल्लाई तो प्रोफेसर और छात्र वहां पहुंच गए. पुलिस मामले की जांच में जुटी है फोरेंसिक टीम घटनास्थल से साक्ष्य एकत्र कर रही है.
BHU की महिला प्रोफेसर ने आग लगाकर दी जान, चिल्लाती रही घर में खेल रही बेटी

वाराणसी. काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के माल्क्यूलर व ह्यूमन जेनेटिक विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर किरण सिंह ने सोमवार को अपने बीएचयू स्थित आवास में आग लगाकर जान दें दी. घटना के दौरान घर में उनकी 14 साल की बेटी भी थी. बेटी स्वप्रभा उर्फ एनी ने जब किचन से आग की लपटे निकलती देखी तो उसने शोर मचाया. मौके पर ही बड़ी संख्या में प्रोफेसर और छात्र वहां पहुंच गए. सूचना मिलने पर पुलिस व फायर बिग्रेड भी पहुंची लेकिन जब तक देर हो चुकी थी. किरण बुरी तरह झुलस गई थीं. घटना के दौरान किरण के पति किसी काम से भोजूबीर गए थे. मृतक प्रोफेसर के पास सरोजिनी नायडू छात्रावास का वार्डेन भी थीं.

सूत्रों की माने तो किरण काफी समय से किसी बीमारी से ग्रसित चल रही थीं. वे मूल रूप से गोरखपुर की रहने वाली थीं. पति विवेक सिंह कंट्रक्शन का काम करते हैं. मौके पर पहुंचे एडीसीपी विकास चन्द्र त्रिपाठी ने बताया घटना का कारण जांच के बाद ही पता चलेगा. एक नज़र से देखने पर अभी तक बस इतना पता चल पाया है कि प्रोफेसर किरण ने कागज के ढेर पर तेल छिड़क कर खुद को आग लगाई थी. प्रोफेसर के पति और बेटी फिलहाल कुछ बता पाने की स्थिति में नहीं हैं. पुलिस मामले की हकीकत पता लगाने के लिए जांच में जुटी है फोरेंसिक टीम भी घटनास्थल से साक्ष्य एकत्र कर रही है.

BHU एसोसिएट प्रोफेसर की रहस्यमय तरीके से मौत, पति नहीं थे घर पर मौजूद

बताया जा रहा है कि महिला प्रोफेसर ने आग लगाने के पहले दिन 12:05 बजे चपरासी राजेन्द्र को फोनकर घर बरामदे की सफाई करने के लिए बोला था. इसके बाद 1 बजे के करीब उनके घर के भीतर से आग की लपटें निकलने लगीं. बेटी घर में ही खेल रही थी. प्रोफेसर ने आग लगाने के पहले बाहर का दरवजा भीतर से बंद करने के पहले घर के कमरे में जाने वाला कमरा भी बंद कर लिया था. आग की लपटों से पूरा घर काला हो गया. थोड़ी और देर होती तो घर में खेल रही बेटी भी आग की लपटों का शिकार हो जाती. फिलहाल प्रोफेसर के मायके वालों को सूचना दी गई है. तहरीर के आधार पर प्रकरण में आगे की कार्रवाई की जाएगी।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें