बनारस: BJP विधायक सुशील सिंह के भाई की कार का आर्म्स के साथ पीछा, केस दर्ज

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 08:32 PM IST
  • वाराणसी के बीजेपी विधायक सुशील सिंह के भाई डॉक्टर सुजीत सिंह ने अपनी जान पर खतरा बताते हुए कैंट थाने में केस दर्ज कराया है. 
बनारस: BJP विधायक सुशील सिंह के भाई की कार का आर्म्स के साथ पीछा, केस दर्ज

वाराणसी. भाजपा के बाहुबली विधायक सुशील सिंह के भाई सुजीत सिंह ने कैंट थाने में शिकायत दर्ज कराई है. सुजीत सिंह ने एफआईआर में बताया कि दो वाहन उन्हें जान से मारने की नीयत से पीछा कर रहे थे. सुशील सिंह ने बताया कि दो वाहन जिसमें असलहाधारी मौजूद थे जो महमूरगंज के गोकुलनगर से ही उनका पीछा कर रहे थे. सुशील सिंह ने अपनी एफआईआर में बताया कि वह कमिश्नर के घर के पास पहुंचे तो बदमाश यू-टर्न लेकर फरार हो गए. सुशील सिंह और सुजीत सिंह पूर्वांचल के बड़े डॉन और एमएलसी बृजेश सिंह के भतीजे हैं.

जानकारी के मुताबिक चंदौली के सैयदराजा से भाजपा विधायक सुशील सिंह के भाई सुजीत सिंह उर्फ डॉक्टर ने तहरीर में बताया है कि 20 सितंबर की सुबह 10.30 बजे वह एक निमंत्रण में जाने के लिए अपने लोगों के साथ तीन वाहनों से सनबीम लहरतारा, अंधरापुल होते हुए बाबतपुर के लिए निकले. इस दौरान महमूरगंज आवास से ही  इनोवा व स्कार्पियो सवार उनके पीछे लग गए. वरुणा पुल पर पहुंचते ही उनके पीछे की दो कार को स्कार्पियो और इनोवा से ओवरटेक करने की कोशिश की. उन्होंने बताया कि इनोवा में चार व स्कार्पियो में दो लोग सवार थे, जो असलहों से लैस थे. बार-बार ओवरेटेक करने का की तो उन्हें आशंका हुई. जिसके बाद जब सुजीत ने कमिश्नर आवास के पास अपने वाहन को किनारे खड़ाकर पीछे आ रहे वाहनों को रोकने का प्रयास किया. इस पर दोनों वाहन वापस चले गए.

हाथरस DM के पीड़ित परिवार को धमकाने से भड़के लोग, जयपुर में घर पर कचड़ा फेंका

घटना के बाद सुजीत सिंह उर्फ डॉक्टर ने जान से मारने की नीयत से दो वाहनों से पीछा करने का मुकदमा कैंट थाने में दर्ज कराया है. तहरीर में बताया है कि असलहाधारी दो वाहन से थे और महमूरगंज के गोकुलनगर स्थित उनके आवास से ही पीछे लगे थे. जब कमिश्नर आवास के पास रोकने की कोशिश की गई तो यू-टर्न लेकर भाग निकले. आपको बता दें कि सुजीत की पत्नी वर्तमान में सेवापुरी ब्लॉक की प्रमुख हैं. इसकी जानकारी एसएसपी को दी. बताया कि वाहनों पर नम्बर झारखण्ड के थे और इस प्रकार पीछा करने का यह दूसरा मामला है. पुलिस ने अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें