वाराणसी: चौकाघाट मर्डरकेस के आरोपी इनामी बदमाश हेमंत सिंह का कोर्ट में सरेंडर

Smart News Team, Last updated: 19/09/2020 04:20 PM IST
हेमंत सिह अपने अधिवक्ता अनुज यादव के जरिये कोर्ट में हाजिर हुए. अधिवक्ता अनुज यादव ने कोर्ट में कहा कि जिला पुलिस हेमंत को चौकाघाट हत्याकांड में फर्जी तरीके से फंसा का प्रयास कर रही है. इसी साल 28 अगस्त को चौकाघाट में काली मंदिर के निकट अभिषेक सिंह प्रिंस को दिनदहाड़े गोली मारकर की हत्या कर दी थी.
crime news

वाराणसी. चौकाघाट हत्याकांड में मुख्य आरोपित विवेक सिंह कट्टा के आत्मसमर्पण के बाद हेमंत सिंह ने भी आत्मसमर्पण कर दिया है. हाल ही में हेमंत सिंह पर पुलिस ने 25 हजार रुपये का ईनाम रखा हुआ था. हेमंत सिंह ने शनिवार को सीजेएम कोर्ट में दोपहर 12 बजे आत्मसमर्पण कर दिया. हेमंत सिह अपने अधिवक्ता अनुज यादव के जरिये कोर्ट में हाजिर हुए और उन्होंने पुलिस पर आरोप लगाया कि पुलिस उन्हें चौकाघाट हत्याकांड में फसाने की कोशिश कर रही है. इस दौरान क्राइम ब्रांच के सदस्य और अधिवक्ता के बीच मारपीट भी हुई.  

हेमंत सिंह के अधिवक्ता अनुज यादव ने कोर्ट में कहा कि पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही थी. जिला पुलिस हेमंत को चौकाघाट हत्याकांड में फर्जी तरीके से फंसा का प्रयास कर रही है. उसका इस घटना से लेना-देना नहीं है. अधिवक्ता अनुज सिंह ने माँग कि अगर हेमंत इस घटना में वांछित है तो उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा जाए. जिसके बाद से कोर्ट हेमंत को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया. हाँलाकि यह जिला पुलिस के लिए एक झटका है. 

प्रेम में असफल युवक ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

इससे पहले आपको बता दें कि इस घटना में बेकसूर ट्राली चालक वाल्मीकि गौड़ भी मारा गया था. इसी मामले में हनी गैंग के सक्रिय सदस्य मुख्य आरोपी विवेक सिंह कट्टा का नाम सामने आया था. उसने 14 सितंबर को जौनपुर के जलालपुर थाने के एससी-एसटी एक्ट में जौनपुर कोर्ट में समर्पण कर दिया. इसके बाद 16 सितंबर को जिला पुलिस ने मेहनगर (आजमगढ़) थाना क्षेत्र के बड़ागांव थाना क्षेत्र के सेमरी का हेमंत सिंह सहित कुछ अन्य लोग जियासड़ निवासी रविप्रताप सिंह उर्फ सम्मी, , जौनपुर के अतुल विश्वकर्मा और केराकत थाने के पहाड़ी कट्टी निवासी विजेंद्र सिंह उर्फ कब्बू पर 25-25 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया था. अब हेमंत सिंह ने भी समर्पण कर दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें