वाराणसी दौरे पर CM योगी ने दिखाई सख्ती, UPPCL के एमडी लापरवाही पर हुए सस्पेंड

Smart News Team, Last updated: Sat, 19th Jun 2021, 10:38 AM IST
  • विकास कार्यों की समीक्षा करने वाराणसी दौरे पर पहुंचे सीएम योगी ने लापरवाह अधिकारियों पर सख्ती दिखाई. उन्होंने यूपीपीसीएल के एमडी को समीक्षा बैठक में अनुपस्थित रहने और काम में लापरवाही बरतने के लिए सस्पेंड किया.
वाराणसी दौरे पर सीएम योगी के दिखे सख्त मिजाज (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाराणसी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को विकास कार्यों की समीक्षा करने के लिए वाराणसी दौरे पर पहुंचे. जहां उन्होंने सर्किट हाउस पहुंचकर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक के दौरान सीएम का मिजाज सख्त दिखाई पड़ा. उन्होंने पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के एमडी सरोज कुमार को समीक्षा बैठक से अनुपस्थित होने और कार्य में लापरवाही बरतने पर सस्पेंड कर दिया. साथ ही शाही नाले की सफाई में देरी पर चीफ इंजीनियर को भी फटकार लगाई.

सीएम योगी ने बैठक के दौरान कहा कि जनता से जुड़ी परियोजनाओं की देरी पर अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर उनकी सूची उपलब्ध कराई जाए. साथ ही जिन परियोजनाओं की योजना बनाई गई उनके शिलान्यास की तैयारी शुरू की जाए. इसके अलावा जो परियोजनाएं पूरी हो रही है उनके आसपास के माहौल को बेहतर बनाकर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएं जाए. सीएम ने कहा कि जनप्रतिनिधियों से अधिकारियों का समन्वय होना जरूरी है. उन्होंने जनप्रतिनिधियों के सुझावों को विकास योजनाओं में प्राथमिकता पर शामिल करने को कहा है.

शबाना आजमी भारत रत्न बिस्मिल्ला खां मार्ग की फोटो शेयर कर बोलीं- एक नजर यहां भी…

सर्किट हाउस में बैठक के दौरान सख्ती दिखाते हुए सीएम ने कहा कि जनता के काम में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने बैठक में गर्मियों में बिजली कटौती और उद्मियों को मिलने वाली सहूलियत में लापरवाही पर निलंबन की घोषणा करते हुए कहा कि लापरवाह अधिकारी किसी कीमत पर जनता के बीच नहीं रहने चाहिए. उन्होंने शाही नाले की सफाई में देरी पर चीफ इंजीनियर को बैठक के दौरान खड़ा करके कहा कि यह अंतिम मौका दे रहा हूं.

सीएम योगी ने बैठक के दौरान कहा कि वाराणसी की अधिकतर परियोजनाएं फरवरी 2022 तक पूरी हो जानी है. इसलिए हर 15 दिनों में इन परियोजनाओं के विकास कार्यों की मॉनिटरिंग व समीक्षा की जाए. जिससे जनता को ये परियोजनाएं समय से पूर्व ही पूरा करके सुविधा दिलाई जा सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें