CM योगी की सौगात, वाराणसी में आज 2241 आशा कार्यकर्ताओं को मिलेगा स्मार्टफोन

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 31st Dec 2021, 9:31 AM IST
  • यूपी में योगी आदित्यनाथ आशा कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन बांटने जा रहे हैं. शुक्रवार को लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ इसकी शुरुआत करेंगे. इस स्मार्टफोन के माध्यम से आशा कार्यकर्ताओं के ऊपर से फाइलों का बोझ हटेगा और उनके काम में पारदर्शिता भी आएगी.
आशा कार्यकर्ताओं के ऊपर से हटेगा फाइलों का बोझ, CM योगी आज बाटेंगे स्मार्टफोन (फाइल फोटो)

लखनऊ. यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार आशा कार्यकर्ताओं के ऊपर से फाइल और रजिस्टर का बोझ हटाने के साथ उनको डिजिटलाइजेशन से जोड़ने के लिए स्मार्टफोन की सौगात देने जा रही है. शुक्रवार को लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में आशा कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन का वितरण करेंगे. इसके साथ ही प्रदेशभर में आशा कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन का वितरण शुरू हो जाएगा.

इस कार्यक्रम में प्रदेशभर से चयनित आशा कार्यकर्ताओं को सीएम योगी खुद स्मार्टफोन देंगे. अन्य स्थानों पर वर्चुअल महिलाएं जुड़कर कार्यक्रम में शामिल होंगी. इस दौरान वाराणसी में 12 महिलाएं शामिल हैं.

UP हज समिति का चुनाव संपन्न, राज्यमंत्री मोहसिन रजा बनाए नए चेयरमैन

वाराणसी में 2241 आशा कार्यकर्ताओं को मिलेगा स्मार्टफोन

वाराणसी में आईएमए सभागार में आशा कार्यकर्ता वर्चुअल तौर पर कार्यक्रम में शामिल होंगी. इस कार्यक्रम में शामलि 2241 आशा कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन का वितरण किया जाएगा. इसमें 50 आशा कार्यकर्ताओं को सभागार में फोन वितरित किाय जाएगा. इसमें शहर की 285 आशा और गांव की 1956 आशा कार्यकर्ता शामिल होंगी.

वाराणसी से लखनऊ कार्यक्रम के लिए चयनित 12 आशा कार्यकर्ता

चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. सदीप चौधरी ने बताया कि वाराणसी में 12 आशा कार्यकर्ताओं को मुख्यमंत्री खुद स्मार्टफोन वितरित करेंगे. इसके साथ ही जिले की अन्य आशा कार्यकर्ताओं को फोन वितरित किया जाएगा. इसके माध्यम से आशा कार्यकर्ताओं को डिजिटल हेल्थ के फायदे से जोड़ा जाएगा.

अमित शाह का अयोध्या दौरा आज, हनुमानगढ़ी व रामलला के दर्शन कर जनसभा को करेंगे संबोधित

बढ़ेगी पारदर्शिता और कम होगा फाइलों का बोझ

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एके मौर्या ने बताया कि इसके माध्यम से आशा कार्यकर्ताओं द्वारा दी जाने वाली जानकारी में पारदर्शिता बढे़गी और उनके ऊपर से फाइलों और रजिस्टरों की संख्या कम हो जाएगी. साथ ही अब स्मार्टफोन में ही आशा कार्यकर्ता समस्त जानकारी, रिपोर्ट औऱ डाटा को ऑनलाइन पोर्टल और एप्लीकेशन पर आसानी से लगाई जा सकेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें