बोटिंग के दौरान पक्षियों को दाना खिलाने पर शिखर धवन के खिलाफ कोर्ट में परिवाद

Smart News Team, Last updated: Wed, 27th Jan 2021, 10:28 PM IST
  • अदालत ने परिवाद सुनवाई के लायक है या नहीं, इस पर सुनवाई के लिए छह फरवरी की तारीख नियत की है. चौबेपुर के बर्थराकला चौबेपुर निवासी अधिवक्ता राजा आनन्द ज्योति सिंह ने दाखिल परिवाद दायर किया है.
शिखर धवन ने प्रवासी पक्षी को दाना खिलाया

वाराणसी: शिखर धवन का गंगा में नाव से सैर और साइबेरियन पक्षियों को दाना खिलाने के मामले में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर शिखर धवन के खिलाफ न्यायिक मजिस्ट्रेट तृतीय दिवाकर कुमार की अदालत में परिवाद दाखिल किया गया है. अदालत ने परिवाद सुनवाई के लायक है या नहीं, इस पर सुनवाई के लिए छह फरवरी की तारीख नियत की है. चौबेपुर के बर्थराकला चौबेपुर निवासी अधिवक्ता राजा आनन्द ज्योति सिंह ने दाखिल परिवाद में कहा है कि समाचार पत्रों से ज्ञात हुआ कि क्रिकेटर शिखर धवन ने इंस्टाग्राम पर 23 जनवरी को गंगा में प्रवासी पक्षियों को दाना खिलाने की तस्वीर पोस्ट की थी. 

बर्ड फ्लू की आशंका में एहतियातन सुरक्षा के मद्देनजर जिला प्रशासन ने दाना खिलाने पर रोक लगा दिया है. इसका उल्लंघन शिखर धवन ने किया. उनका चालान न करके गंगा में सैर कराने वाले नाविकों का चालान कर दिया गया. नौका संचालन पर रोक लगा दिया गया. प्रशासन के आदेश का उल्लंघन शिखर धवन ने किया है जो आईपीसी की धारा 188, 269, 270 के तहत अपराध है. ऐसे में शिखर को तलब कर दण्डित किये जाने का अनुरोध किया गया है.

वाराणसी : 4 फरवरी से 21 फरवरी तक चलेगा चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव

आपको बता दें कि 23 जनवरी को शिखर धवन वाराणसी में गांगा सैर के दौरान लाइफ जैकेट भी नहीं पहनी थी. और बर्ड फ्लु के दौरान पक्षियों को दाना भी खिलाया जिससे प्रशासन ने शिखर से नाराजगी जताई और उन्हें नियमों की जानकारी ना होने का हवाला देकर उन्हें छोड़ दिया था. लेकीन उनके नाविक और नाव मालिक का महामारी अधिनियम के तहत चालान कर दिया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें