भगवा रंग में रंगा कांग्रेस दफ्तर, भड़के नेताओं ने दिया 36 घंटे का अल्टीमेटम

Atul Gupta, Last updated: Fri, 10th Dec 2021, 3:45 PM IST
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे से पहले प्रशासन ने पूरे शहर को भगवा रंग से रंग दिया है और उसी कड़ी में कांग्रेस दफ्तर पर भी भगवा रंग चढ़ा दिया गया है. इस घटना से भड़के कांग्रेसी नेताओं ने वाराणसी विकास प्राधिकरण को 36 घंटे का अल्टीमेटम दिया है.
भगवा रंग में रंगा कांग्रेस दफ्तर (फोटो- सोशल मीडिया)

वाराणसी: यूपी में बीजेपी का जलवा कुछ ऐसा है कि अब भाजपा की धुर विरोधी पार्टी कांग्रेस के दफ्तर को भी भगवा रंग में रंगा जा रहा है. दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे को लेकर काशी में बिल्डिंग्स को भगवा रंग में रंगा जा रहा है. इसी कड़ी में कांग्रेस दफ्तर का रंग भी भगवा हो गया है. यूपी के बड़े पत्रकार पंकज झा के मुताबिक कांग्रेस दफ्तर को भगवा रंग में रंगे जाने से कांग्रेस पार्टी नेताओं में खासी नाराजगी है और उन्होंने रंग बदलने के लिए प्रशासन को 36 घंटों का अल्टीमेटम दिया है. इससे पहले शहर भर का भगवाकरण करने के दौरान प्रशासन ने मस्जिद को भी भगवा रंग में रंग दिया था जिसपर बवाल हुआ था. मस्जिद प्रशासन की आपत्ति के बाद करीब आधा दर्जन मजदूरों को लगाकर मस्जिद को वापस सफेद रंग में रंग दिया गया था.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन करने जा रहे हैं. विश्वनाथ मंदिर की तरफ जाने वाले पूरे रास्ते को प्रशासन भगवा रंग में रंग रहा है. प्रधानमंत्री मोदी बनारस में करीब 1400 करोड़ की लागत से बने काशी विश्वनाथ धाम सहित 19 परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे. वाराणसी विकास प्राधिकरण का कहना है कि शहर को एकरूपता लाने के क्रम में ये किया जा रहा है लेकिन कुछ लोगों का आरोप है कि बिना उनकी सहमति के जबरन उनके घर को भगवा रंग में रंगा जा रहा है. उसी क्रम में अब कांग्रेस दफ्तर को भी भगवा रंग में रंगा जा रहा है.

अगले साल यूपी में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) को लेकर काशी विश्वनाथ कॉरिडोर प्रोजेक्ट काफी अहम माना जा रहा है. उम्मीद है कि इस प्रोजेक्ट के शुरू होने के बाद पूर्वांचल में बीजेपी की स्थित और मजबूत होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें