बनारस में रेमडेसिविर की कालाबाजारी, क्राइम ब्रांच ने तीन किए अरेस्ट, दबिश जारी

Smart News Team, Last updated: Tue, 27th Apr 2021, 11:56 PM IST
नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में क्राइम ब्रांच टीम ने ककरमत्ता और लहुराबीर के पास 3 लोगों को रेमडेसिविर इंजेक्शन को 18 से 20 रुपए में बेचते हुए गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार यह तीनों लोग संक्रमित मरीज के परिजन को रेमडेसिविर इंजेक्शन को अवैध दाम पर बेच रहे थे.
क्राइम ब्रांच ने रेमडेसिविर इंजेक्शन का कालाबाजारी कर रहे 3 लोगों को गिरफ्तार किया. (प्रतीकात्मक फोटो)

वाराणसी : वाराणसी में कोरोना का ग्राफ लगातार ऊपर जा रहा है. जिससे कोरोना संक्रमित मरीज के इलाज में इस्तेमाल होने वाले दवाओं, इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कालाबाजारी शुरू हो गई है. ऐसी ही घटना का वाराणसी पुलिस ने पर्दाफाश किया है. क्राइम ब्रांच ने वाराणसी लहुराबीर और ककरमत्ता इलाके के पास तीन लोगों को जो 900 रुपए के रेमडेसिविर इंजेक्शन को एक कोरोना संक्रमित मरीज के परिजन को 18 हजार से 20 हजार के बीच बेच रहे थे. उनको गिरफ्तार किया. पुलिस ने कालाबाजारी कर रहे तीनों लोगों पर केस दर्ज किया है.

वाराणसी के डीएम कौशल राज शर्मा ने कहा कि पिछले कई दिनों से ऐसी शिकायत आ रही थी कि अस्पताल के डॉक्टर अनावश्यक रूप से मरीज के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन को लिख रहे हैं. जिससे जरूरतमंद संक्रमित मरीज को इंजेक्शन नहीं मिल पा रहा है. और कालाबाजारी अलग से हो रही है. पिछले 3 दिन के भीतर वाराणसी के तीन अस्पतालों को नोटिस भी दिया गया है. इन सब के बावजूद भी इंजेक्शन मांग से कम आ रहे हैं. जिलाधिकारी ने कालाबाजारी रोकने के लिए प्रशासन पुलिस जीएसटी औषधि आयकर और आपूर्ति विभाग के बड़े अधिकारियों की दो टीमें गठित किया है. जो मरीजों के परिजन से मिलने वाली शिकायत के आधार पर जांच करेंगे. साथ ही पुलिस कमिश्नर ने इंटेलिजेंस विंग को खुफिया तरीके से कालाबाजारी करने वाले लोगों की पहचान करने को कहा है.

वाराणसी में हालात डरावने, सपा नेता विवेक यादव का कोरोना से निधन

वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय शहर है. इसलिए वाराणसी शहर में दूसरे शहर की तुलना में गुजरात और अन्य राज्यों से रेमडेसिविर इंजेक्शन ज्यादा आ रहा है. पर यह इंजेक्शन वाराणसी के मरीजों की खपत का आधा भी नहीं है. इसलिए स्थानीय डॉक्टर मरीजों के परिजन को अपने बल पर यह इंजेक्शन लाने को कह रहे हैं. जिसका फायदा ये बड़े दवा व्यापारी उठा रहे हैं. कई जगह हॉस्पिटल के डॉक्टर और दवा के बड़े व्यापारियों का आपस में मिलकर इंजेक्शन बेचने का कालाबाजारी कर रहे हैं.

मदद को आगे आया RSS, कोरोना मरीजों के परिवार को बनवाया 50 बेड का सेवा केंद्र

वाराणसी: कोरोना चेन तोड़ने के लिए मंडुवाडीह व्यापार मंडल ने उठाया अहम कदम, फायदे की उम्मीद

कोरोना से संक्रमित डिप्टी CM दिनेश शर्मा की हालत बिगड़ी, लखनऊ PGI में भर्ती

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें