पं. राजन मिश्र के नाम पर कोविड अस्पताल बनाने की घोषणा से खुश नहीं बेटे, क्या बोले?

Smart News Team, Last updated: Wed, 12th May 2021, 9:59 PM IST
  • पद्मभूषण पंडित राजन मिश्र के निधन के बाद बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में अस्थाई कोविड अस्पताल का नाम उनके नाम पर रखा गया है. सरकार के इस फैसले पर पंडित राजन मिश्र के बेटे रजनीश्र मिश्र ने सरकार से मंदिर और मूर्ति की जगह अस्पताल बनाने की गुहार लगाई है.
बीएचयू में खुला कोविड अस्पताल का नाम पंडित राजन मिश्र के नाम पर रखा गया है.

वाराणसी. बनारस घराने के पद्मभूषण पंडित राजन मिश्र के निधन के बाद बीएचयू में खोले गए अस्थाई कोविड को उनका नाम दिया गया है. सरकार के इस कदम की लोगों ने सोशल मीडिया पर खूब आलोचना की है. पंडित राजन मिश्र के बेटे रजनीश मिश्र ने कहा कि जो नुकसान होना था, वो तो हो गया है. उन्होंने सरकार से मंदिर, मूर्ति की जगह अस्पताल बनाने की गुहार लगाई. 

पंडित राजन मिश्र के बेटे रजनीश मिश्र ने कहा कि पिताजी तो नहीं रहे, हम दोष किसे दें? जो नुकसान होना था, वह तो हो गया है और उसकी भरपाई संभव नहीं है. बनारस घराने और शास्त्रीय गायकी में वर्ल्ड फेम पंडित जी के इलाज में ऐसा हो सकता है तो अंदाजा लगाइए आम आदमी की क्या स्थिति होगी.

CM योगी का बड़ा फैसला, CSC पर होगा दिव्यांग और निराश्रितों का वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन

रजनीश मिश्र ने सरकार से गुहार लगाते हुए कहा कि संकट के इस दौर में मंदिर, मूर्तियों और नई इमारतों की जरूरत नहीं है. उनकी जगह बेहतर अस्पताल बनवाएं जाएं ताकि लोगों की जान बच सके. आपको बता दें कि सरकार ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में अस्थायी कोविड अस्पताल को पंडित राजन मिश्र का नाम दिया है. सोशल मीडिया पर लोगों ने सरकार को खूब खरी-खोटी सुनाई है.

मुम्बई-वाराणसी समर स्पेशल ट्रेन का समय बढ़ा, जानें फुल टाइम टेबल

आपको बता दें कि बीते 25 अप्रैल को पंडित राजन मिश्र का कोरोना से दिल्ली में निधन हो गया था. दिल्ली कें सेंट स्टीफंस अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. तमाम कोशिशों  के बावजूद राजन मिश्र को वेंटीलेटर नहीं मिल सका था. पंडित राजन मिश्र के निधन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत देश भर के कई नेताओं ने शोक जताया था. अब उन्हीं के नाम पर वाराणसी में कोविड अस्पताल खोला गया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें