भारत में 100 गांव को बाढ़ मुक्त करने के लिए गंगा पार बनेगा बांध

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Aug 2021, 7:34 AM IST
  • काशी क्षेत्र के गंगा घाट के किनारे बसे गांवों को बाढ़ मुक्त बनाने के लिए नगर विकास प्राधिकरण की ओर से योजना बनाई जा रही है. इसके तहत गंगा पार बसे रामनगर सहित आसपास के 100 गांवों को बाढ़ मुक्त करने के लिए एक बांध बनाए जाने पर विचार किया जा रहा है.
बीसलपुर बांध की फाइल फोटो

वाराणसी. वाराणसी विकास डेवलपमेंट अथॉरिटी की ओर से जो योजना बनाई गई है उसके अनुसार गंगा पार के सुजाबाद कोदोपुर डोमरी कटेसर रतनपुरा रामनगर आंशिक सेमरा चौरहट भोजपुर चांदी तारा नींबू पुर बहादुरपुर आदि गांव को गंगा पार बांध बन जाने के बाद बाढ़ का खतरा नहीं रहेगा.

इस संबंध में वाराणसी डेवलपमेंट अथॉरिटी के वाइस चांसलर राहुल पांडे ने बताया कि डेवलपमेंट अथॉरिटी की ओर से बाढ़ मुफ्त एरिया को और विस्तार देने के लिए गंगा पार बांध बनाने की योजना बनाई गई है. बांध बन जाने के बाद रामनगर समेत वाराणसी गंगा पार क्षेत्र के तकरीबन 100 गांव को हर साल आने वाली बाढ़ से मुक्ति मिल जाएगी. उन्होंने बताया कि इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है प्रारंभिक चरण में रामनगर से सेमरा तक बांध व सड़क बनाकर बनारस के 45 गांव को पूरी तरह से बाण मुक्त किया जाएगा. बताया कि शेष गांव पड़ोसी जनपद चंदौली क्षेत्र में आते हैं.

इस तरह बांध बन जाने से गंगा किनारे के तकरीबन 100 से अधिक गांव बाढ़ मुक्त हो जाएंगे. बताया कि पहले चरण के तौर पर रामनगर से सेमरा तक 4.90 किलोमीटर तक सड़क बनानी शुरू कर दी गई है. इसके लिए डीडीए ने अपनी निधि से धनराशि खर्च करके ग्लोबल टेंडर जारी किया है. फोन बनाने के लिए कई नामी-गिरामी कंपनियां संपर्क कर रही हैं. सारी प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद काम शुरू करा दिया जाएगा. बताया कि यह सड़क 7 मीटर ऊंची और 5 मीटर चौड़ी बनाई जा रही है जिससे बाढ़ का पानी इन गांवों तक नहीं पहुंच सकेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें