सावन के पहले सोमवार के लिए सज गया काशी विश्वनाथ धाम, जानें तैयारियां

Smart News Team, Last updated: Mon, 26th Jul 2021, 7:58 AM IST
  • सावन के पहले सोमवार के लिए काशी विश्वनाथ धाम को फूलों से सजा दिया गया है. श्रद्धालु कोरोना नियमों का पालन करते हुए मंदिर के दर्शन कर पाएंगे. काशी विश्वनाथ धाम के दर्शन के दौरान कई नई चीज देखने को मिलेंगी जैसे अब स्टील के बेरिकेडिंग से होते हुए अन्दर जाना होगा. कई मार्ग पर वाहनों का भी प्रतिबंध है.
सावन के पहले सोमवार के लिए सज गया काशी विश्वनाथ धाम

वाराणसी. सावन का महीना शिव भक्तों का सबसे प्रिय महीना है. हर कोई यह कयास लगा रहा था की क्या इस सावन भी कोरोना महामारी के चलते श्रद्धालु काशी विश्वनाथ मंदिर के दर्शन कर पाएंगे या नहीं. लेकिन बता दें कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की शर्तों के साथ श्रद्धालुओं के लिए काशी विश्वनाथ मंदिर के द्वार खोल दिए हैं. मंदिर को तरह-तरह के फूलों से सजाया गया है. इस बार श्रद्धालुओं की एंट्री बांस बल्ली की जगह स्टील की बेरिकेडिंग लगी सड़कों से होगी. जिनके बीच में लाल कारपेट बिछाया जाएगा. आपात स्थिति के लिए चिकित्सक और एनडीआरएफ की टीम भी मंदिर में तैनात रहेंगी.

सभी को मास्क पहनना अनिवार्य होगा. साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ही श्रद्धालुओं की कतार लगी होगी. कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए मंदिर में व्यवस्था की गई है साथ ही मंदिर परिसर को हर छह घंटे पर सैनिटाइज भी किया जाएगा. मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने श्रद्धालुओं से अपील करते हुए कहा कि कोई भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जैसे मोबाइल, पेन, घड़ी, पेन ड्राइव आदि लेकर मंदिर में न आएं इससे उन्हें मंदिर में एंट्री लेने में परेशानी होगी. साथ ही सबसे अपील की जा रही है कि मंदिर परिसर में किसी विग्रह, दीवार या रेलिंग को छूने के बचें.

UPSSSC jobs 2021: यूपी में जल्द निकलेंगी बंपर नौकरियां, 33700 पदों पर होगी भर्ती

काशी विश्वनाथ मंदिर खोलने से वाहनों का आवागमन भी प्रभावित होगा. मार्गों को परिवर्तित कर दिया गया है. मालूम हो कि मैदागिन से गोदौलिया होते हुए रामापुरा और रामापुरा से गोदौलिया, गोदौलिया से मैदागिन तक पूरे मंदिर मार्ग को सावन महीने के हर रविवार रात आठ से मंगलवार सुबह आठ बजे तक नो- विहकेल जोन घोषित किया गया है. जहां केवल पैदल यात्रियों को आने जाने की अनुमति होगी. साथ ही रविवार के दिन श्रद्धालुओं की भारी भीड़ होने के कारण सिर्फ दो पहिया वाहनों को ही अनुमति मिलेगी लेकिन रात आठ बजे से बाइक भी प्रतिबंधित हो जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें