वाराणसी में कोरोना कंट्रोल करने के लिए डीएम ने रैपिड रिस्पॉन्स टीम का किया गठन

Smart News Team, Last updated: 12/08/2020 11:43 PM IST
  • वाराणसी में कोरोना लगातार बढ़ता जा रहा है.जिसे कंट्रोल करने के लिए डीएम ने रैपिड रिस्पॉन्स टीमों का गठन किया. जिले में अब तक कोरोना से संक्रमित 88 रोगियों की मौत हो चुकी है.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

वाराणसी में कोरोना का कहर लगातार तेजी से बढ़ रहा है. बीएचयू लैब ने कोरोना की नई रिपोर्ट जारी की है. जिसमें कोरोना संक्रमण के 160 नए संक्रमितों की पहचान हुई है वहीं 261 पुराने मरीज ठीक हो गए और उन्‍हें डिचार्ज कर दिया गया है. आज इस बीमारी से तीन और लोगों की मौत हो गयी है. जिले में कुल 88 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है.

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कोरोना से जारी जंग को जीतने के लिए रैपिड रिस्पॉन्स टीमों का गठन किया है. ये टीमें कोरोना पॉजिटिव मरीजों की हिस्ट्री तलाश कर उनके संपर्क में आए लोगों की पहचान कर तत्काल आईवर्मेक्टिन दवा उपलब्ध कराने का काम करेगी. इसके लिए शिक्षा विभाग की 102 टीमें गठित करने के अलावा आपूर्ति विभाग, सिविल डिफेंस व रेलवे की भी मदद ली जाएगी.

बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षक भी कोविड रैपिड रिस्पोंस टीम में कार्य करते हुए कोरोना पॉजिटिव मरीजों के सम्पर्क में आए लोगों की लिस्ट तैयार करेंगे और उन्हे आईवर्मेक्टिन गोली देंगे. सभी टीमें 11 अगस्त से आवंटित क्षेत्रों में कार्य कर रही हैं. जिलाधिकारी ने टीम को 10,500 व्यक्तियों के लिए आईवर्मेक्टिन की 84,000 गोलियां प्रदान की है. डीएम ने अपने नेतृत्व में सिगरा स्थित कोविड कमांड/कंट्रोल सेंटर में 102 टीमों के लीडर्स को प्रशिक्षण प्रदान कराया और निर्देशित किया कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों के निकट संपर्कियों का सर्वे कर उन्हें आईवर्मेक्टिन दवा खिलाने में तैनात सभी टीमें तत्परता से कार्य करें। साथ ही इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही और शिथिलता न बरतने की हिदायत की।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें