प्रदूषण को लेकर लापरवाही की तो बीएचयू पर लगा पचास हजार का जुर्माना

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Nov 2020, 4:18 PM IST
  • वाराणसी में बढ़ते वायु प्रदूषण की वजह से प्रशासन सतर्क हो गया है.प्रशासन ने इस मामले में हीलाहवाली बरतने को लेकर संस्थानों पर भी नजर रखनी शुरू कर दी है.
बीएचयू पर लगा 50 हजार का जुर्मना

वाराणसी. वायु प्रदूषण के प्रति लापरवाही बरतने की वजह से बीएचयू पर भी जुर्माना लगाते हुए नोटिस जारी कर दिया गया है. बीएचयू में चल रहे सड़क निर्माण कार्य के दौरान लापरवाही बरतने और प्रदूषण फैलने से रोकने हेतु उपाय ना करने की वजह से प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा पचास हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है .इससे पहले भी प्रदूषण फैलाने को लेकर नगर आयुक्त द्वारा बिजली विभाग व विश्वनाथ कॉरिडोर निर्माण में लगी कंपनी को नोटिस देकर सचेत किया जा चुका है.

पिछले काफी दिनों से बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में सड़क मरम्मत कार्य चल रहा था.कार्य के दौरान खुले वातावरण में तारकोल जलाया जा रहा था जिससे अत्यधिक मात्रा में प्रदूषण फैल रहा था. मुख्य बात कि इस दौरान कार्य करा रहे ज़िम्मेदारों द्वारा प्रदूषण से बचाव के लिए न तो निर्माण स्थल को कवर किया गया था और ना ही पानी का छिड़काव किया जा रहा था. इस लापरवाही से हवा में प्रदूषण घुलने का तो बंदोबस्त था ही वहीं इस रास्ते से बीएचयू अस्पताल तक कई गंभीर मरीज आते-जाते हैं, जो कि उनके स्वास्थ्य के लिए काफी खतरा साबित होता.

यह अनोखा ऐप आपको रखेगा फैमिली प्रॉटेक्शन से बेफिक्र

इन सब बातों को लेकर उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा बीएचयू को दिए नोटिस में बैंक अकाउंट देकर तत्काल पचास हजार की राशि जमा कराने का निर्देश दिया है. नोटिस में यह भी स्पष्ट किया गया है कि प्रदूषण के लिए यह क्षतिपूर्ति वसूली जा रही है.इससे पहले अंडर ग्राउंड केबल बिछाने का काम कर रही बिजली विभाग की कंपनी को भी सड़क खुदाई के दौरान पानी ना छिड़कना भारी पड़ गया था.कंपनी को नगर आयुक्त गौरांग राठी ने नोटिस भेजा था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें