वाराणसी: बिजली कर्मियों की हड़ताल से शहर में बिजली और पानी के लिए मचा हाहाकार

Smart News Team, Last updated: 06/10/2020 11:48 AM IST
  • वाराणसी में दूसरे दिन भी बिजली कर्मियों की हड़ताल जारी है. निजीकरण के विरोध में कर्मी हड़ताल पर हैं. शहर में बिजली और पानी के लिए हाहाकार मचा है. कई इलाकों में घंटों से बिजली बंद है.
राजधानी पटना में गर्मी के मौसम में अगर बिजली गुल हुई तो इंजीनियरों पर होगी कार्रवाई

वाराणसी. बिजलीकर्मियों का पूर्ण कार्यबहिष्कार दूसरे दिन भी जाी है. आज भी बिजली आपूर्ति पर इसका असर पड़ रहा है. बीएचयू उपकेंद्र के सरायन्दन फीडर से आपूर्ति रात साढ़े नौ बजे से बाधित है. अभी तक सप्लाई बहाल नहीं हुई है. सरायन्दन फीडर से जुड़े आशुतोष नगर ,सरायन्दन, बटुवापुरा, कृष्णदेव नगर आदि इलाके में हाहाकार मचा हुआ है. लोगों को बिजली की कमी के साथ पानी की कमी भी झेलनी पड़ रही है. 

इसके अलावा न्यू कालोनी आशापुर, सारनाथ, फरीदपुर, न्यूकालोनी तिलमापुर, हिरावनपुर के तमाम फीडरों से अबतक आपूर्ति बाधित है. कल से लोग बूंद बूंद पानी को तरस रहे. समस्या हो गई है. छत पर जाग कर लोगों ने बिताई रात. इसके साथ ही मैदागिन स्थित टाउनहाल उपकेंद्र से बिजली सप्लाई कल रात से ठप है. उपकेंद्र पर सिर्फ पुलिस और नागरिक सुरक्षा के लोग तैनात है. 3-6 घंटे तो कहीं 12 घंटे तक बिजली सप्लाई न होने से घरों में इन्वर्टर भी जवाब दे रहे हैं. दिन बीतने के साथ लोगों की परेशानियों में भी इजाफा होगा.

PUVVNL निजीकरण के विरोध में बिजलीकर्मियों का हड़ताल शुरू, देखें आंदोलन के फोटो

बिजलीकर्मियों के बेमियादी कार्य बहिष्कार आंदोलन के कारण शहर के कई इलाकों में सोमवार रात से अब तक बिजली आपूर्ति ठप है. इससे मंगलवार सुबह न नलकूप चले और न ही जलकल की आपूर्ति हुई. कार्य बहिष्कार आंदोलन का मंगलवार को दूसरा दिन है. जिन इलाकों में रात में बिजली थी, वहां मंगलवार सुबह 8 से 9 बजे के बीच आपूर्ति बाधित कर दी गई. प्रभावित क्षेत्रों में सारनाथ, आशापुर, पांडेयपुर, मैदागिन, विश्वेश्वरगंज, बुलानाला, दारानगर, बीएचयू के आसपास के मोहल्ले व कालोनियां हैं.

RLD नेता जयंत चौधरी पर हाथरस में लाठीचार्ज का मेरठ में विरोध, कमिश्नरी को घेरा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें