वाराणसी: दोस्तों संग गंगा में डूबकी लगाने गया मुजफ्फरपुर का इंजीनियर डूबा, मौत

Smart News Team, Last updated: 05/10/2020 12:43 PM IST
वाराणसी के शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर के पास माधोपुर घाट पर मुजफ्फरपुर जिले के शारदा नगर (आरके आश्रम) का रहने वाला  इंजीनियर आशीष रंजन(26) रविवार की दोपहर स्नान करने के दौरान डूबने से मौत हो गई. काफी देर होने के बाद उसका का शव मिला. वो स्नान करने अपने दोस्तों के साथ आया था.
मृत आशीष रंजन(फाइल फोटो)

वाराणसी. वाराणसी के शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर के पास माधोपुर घाट पर मुजफ्फरपुर जिले के शारदा नगर (आरके आश्रम) का रहने वाला आशीष रंजन (26) रविवार की दोपहर स्नान कर रहा था. इस दौरान डूबने से उसकी मौत हो गई. काफी देर होने के बाद उसका  का शव मिला.

विनोद अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था. वह भोपाल से एमटेक की डिग्री लेने के बाद दो अक्टूबर को वाराणसी घूमने आया था. यहां से रविवार को उसे अपने घर वापस जाना था. टिकट कैंसिल हो गई. इस कारण वह अपने दोस्तों के साथ गंगा स्नान करने चला गया. आशीष अपने दोस्त महमूरगंज के आदर्श नगर में रहने वाले उत्कर्ष विश्वकर्मा, डीरेका के आकाश और हाइडिल काॅलोनी में रहने वाले नितेश के साथ शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर आ गया.

वाराणसी: स्थिर जल स्तर और ठहरा पानी कहीं बना न दे संक्रामक रोगों की कहानी

दर्शन के पहले सभी दोस्त माधोपुर घाट पर नहाने लगे. इसी दौरान आशीष रंजन (26) गहरे पानी में चला गया. उसके दोस्त उत्कर्ष ने बचाने की कोशिश पर वो कामयाब नहीं‌ हो सका. सभी दोस्तों ने रोहनियां पुलिस को इसकी जानकारी देने के साथ ही आसपास के लोगों ने आशीष को ढूढंना शुरू किया. इस दौरान स्थानीय युवक अशोक कुमार त्रिपाठी को उसका को वो मिला बाहर निकालने तक उसकी जान जा चुकी थी.

वाराणसी: गायब किशोरी का शव एक दिन बाद वरुणा नदी में मिला, मची सनसनी

रोहनिया पुलिस ने मुजफ्फरपुर जिले के शारदा नगर( आरके आश्रम) में रहने वाले आशीष के परिवारवालों को मोबाइल की जरिए जानकारी दे दी. बनारस में रहने वाले उसके रिश्तेदार तुरंत वहां पहुंचे. उन्होंने बताया कि मृतक के पिता विनोद कुमार नौकरी करते हैं. परिवार  वाले सुबह तक यहां पहुंचेंगे. आशीष का दोस्त  सिर्फ उत्कर्ष आखिर तक मौके पर खड़ा रहा जबकि उसके दो दोस्त भाग गये. उत्कर्ष ने कहा कि आशीष दो दिन से गंगा स्नान के बारे में बार-बार कह रहा था. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें