वाराणसी के एक निजी अस्पताल में लगी आग, आईसीयू में फंसे 10 मरीज

Smart News Team, Last updated: Wed, 10th Mar 2021, 10:33 AM IST
  • वाराणसी के एक प्राइवेट अस्पताल के तीसरी मंजिल में आग लगने से इलाके में हड़कंप मच गया. घटना के समय आईसीयू में मौजूद 10 मरीजों में से 6 मरीज वेंटिलेटर पर थे, जबकि बाकी मरीजों हालत भी क्रिटिकल बताई गई. काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया.
वाराणसी के एक निजी अस्पताल में लगी आग, आईसीयू में फंसे 10 मरीज

वाराणसी। वाराणसी के भेलूपुर थाने के अंतर्गत आने वाले महमूरगंज इलाके में आज सुबह तकरीबन 5:30 बजे एक प्राइवेट अस्पताल के तीसरी मंजिल में आग लगने से इलाके में हड़कंप मच गया. ऑपरेशन थिएटर के बाहर लगे इलेक्ट्रॉनिक पैनल से आग फैली और कुछ ही देर में पहले ओटी में उसके बाद फिर उसके बराबर में बनाए गए आईसीयू रूम तक फैल गई.

हादसे के वक्त आईसीयू में10 मरीज मौजूद थे जो कि क्रिटिकल कंडीशन में थे. आनन फानन में सभी 10 मरीजों को दूसरी बिल्डिंग में शिफ्ट कराया गया. आग के ऊपर के फ्लोर में फैलने से पहले ही अस्पताल प्रबंधन और अग्निशमन अधिकारियों ने मिलकर आईसीयू में भर्ती सभी 10 मरीजों को सुरक्षित दूसरी बिल्डिंग में शिफ्ट कर दिया.

अस्पताल में आग की घटना के बाद आस पास जुटी लोगों की भीड़

पुलिस अधिकारी बताकर की शादी और आर्मी कैप्टन बनकर की लाखों की ठगी, अरेस्ट

हॉस्पिटल में तीसरे फ्लोर पर आग लगने की सूचना मिलते ही अस्पताल प्रबंधन ने पहले अस्पताल में लगे हुए फायर फाइटिंग इक्विपमेंट की मदद से आग को काबू करने की कोशिश की. लेकिन आग इलेक्ट्रॉनिक पैनल से फैलते हुए ऑपरेशन थिएटर तक पहुंच गई. जिसके बाद आईसीयू भी आग की चपेट में आने लगा. उस समय आईसीयू में मौजूद 10 मरीजों में से 6 मरीज वेंटिलेटर पर थे, जबकि बाकी मरीजों हालत भी क्रिटिकल बताई गई.

वाराणसी का मंडलीय अस्पताल होगा पेपरलेस, अब पर्ची और जांच रिपोर्ट खोने का डर नहीं

अस्पताल की ऊपरी मंजिल पर धुआं बढ़ता देख मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने आग पर काबू पाने के लिए मशक्कत शुरू कर दी. जिसके बाद आग तो धीरे धीरे बुझने लगी लेकिन धुआं काफी बढ़ गया. धुएं को खत्म करने के लिए अस्पताल के बाहर लगे शीशे को तोड़ा गया. धुआं कम होने के बाद आईसीयू में मौजूद उन 10 मरीजों को दूसरे कमरों में शिफ्ट किया गया. अस्पताल में लगी आग इतनी भीषण थी मौके पर दमकल की 4 गाड़ियों को बुलाना पड़ा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें