PM मोदी के संसदीय क्षेत्र में होगा विश्व का तैरता हुआ पहला CNG पंप स्टेशन

Ruchi Sharma, Last updated: Thu, 16th Dec 2021, 6:56 PM IST
  • पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में विश्व का पहला तैरता हुआ सीएनजी स्टेशन होगा. पूरी दुनिया में सिर्फ अपने देश में यह तैरने वाला सीएनजी स्टेशन होगा. यह पूरी तरह इको फ्रेंडली होगा. वहीं सुविधाओं की दृष्टि से पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र होगा.
फोटो क्रेडिट- ट्विटर

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को ऐसी सौगात मिलने वाली है जो कल्पना से परे है. जी हां अब वाराणसी में जल्द ही आपको नदी में तैरने वाला सीएनजी स्टेशन दिखाई देगा. यहां विश्व का पहला तैरता हुआ सीएनजी स्टेशन होगा. पूरी दुनिया में सिर्फ अपने देश में यह तैरने वाला सीएनजी स्टेशन होगा. यह पूरी तरह इको फ्रेंडली होगा. वहीं सुविधाओं की दृष्टि से पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र होगा. इस कल्पना को हकीकत किया है आईआईटी इंजीनियरों ने.

आईआईटी की इंक्यूबेटेड कंपनी एक्वाफ्रंट इंफ्रास्ट्रक्चर ने गंगा की धारा पर सीएनजी फिलिंग स्टेशन तैयार किया है. इससे सीएनजी नावों को ईंधन मिल सकेगा. विश्व का यह पहला तैरता हुआ सीएनजी स्टेशन है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यह तकनीक देख विज्ञानियों को शुभकामनाएं दी हैं.

विधानसभा में विपक्ष के हंगामे के बीच योगी सरकार ने अनुपूरक बजट व लेखानुदान किया पेश

जानिए क्या है खासियत

फ्लोटिंग सीएनजी पंप स्टेशन गंगा में बाढ़ या तेज बहाव की स्थिति में भी सुरक्षित रहेगा. यह काफी एडवांस तकनीक है, जो तेज बहाव या बाढ़ की स्थिति में भी अपनी पोजीशन को एडजस्ट कर लेती है. बाढ़ की विकराल स्थिति में भी सीएनजी डिस्पेंसर के लिए पाइपलाइन कनेक्शन सुरक्षित रहे, इसको ध्यान में रख डिजाइन किया गया है. इसके साथ ही यह इको फ्रेंडली होगा. पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र होगा. यह प्रदूषण को रोकने के लिए मुख्य भूमिका निभाएगा. अभी तक डीजल वाली नाव चलती हैं, जिससे काफी प्रदूषण होता है अब सभी नाव सीएनजी से चलेंगी, जिससे प्रदूषण नहीं होगा. इसके साथ ही यात्री सीएनजी नावों से काशी विश्वनाथ धाम कारिडोर तक पहुंचने के लिए नदी का रास्ता अपना सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें