सांसद अतुल राय रेप केस: जेल में गिरे पूर्व सीओ अमरेश सिंह बघेल, हाथ में गंभीर चोट

ABHINAV AZAD, Last updated: Tue, 9th Nov 2021, 12:20 PM IST
  • सांसद अतुल राय पर रेप का मुकदमा दर्ज कराने वाली बलिया की युवती और उसके गवाह सत्यम प्रकाश राय को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में जेल में बंद भेलूपुर के पूर्व सीओ अमरेश सिंह बघेल जेल के बैरक में फिसल गए. जेलर ने बताया कि जेल के बैरक में फिसलने से उनके हाथ में गंभीर चोट आई है.
भेलूपुर के पूर्व सीओ अमरेश सिंह बघेल.

वाराणसी. भेलूपुर के पूर्व सीओ अमरेश सिंह बघेल जेल के बैरक में फिसलने से घायल हो गए. इस हादसे में पूर्व सीओ का हाथ फ्रैक्चर हो गया है. बताते चलें कि भेलूपुर के पूर्व सीओ अमरेश सिंह बघेल पर रेप पीडि़ता और गवाह को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है. दरअसल, सांसद अतुल राय पर दुराचार का मुकदमा दर्ज कराने वाली बलिया की युवती और उसके गवाह सत्यम प्रकाश राय के सुप्रीम कोर्ट के सामने आत्मदाह के मामले में लंका पुलिस ने पूर्व सीओ पर मुकदमा दर्ज कराया था.

मिली जानकारी के मुताबिक, इस हादसे में आरोपित पूर्व सीओ को गंभीर चोट आई है. बहरहाल, जेल प्रशासन की ओर से उन्हें बीएचयू ट्रामा सेंटर ले जाने की तैयारी है. ट्रॉमा सेंटर ले जाने के पहले वहां सुरक्षा के पुख्ता बंदोबश्त किए गए हैं. बताते चलें कि भेलूपुर के पूर्व सीओ अमरेश सिंह बघेल को 30 सितंबर को गिरफ्तारी के बाद जेल भेज दिया गया था. वह जेल के विशेष बैरक में रखे गए हैं. जेलर वीरेंद्र त्रिवेदी ने बताया कि जेल के बैरक में फिसलने से उनके हाथ में गंभीर चोट आई है.

Dev Diwali: अब तक 300 नाव समेत दो सौ होटलों की ऑनलाइन बुकिंग, जानें देव दिवाली का महत्व

बताते चलें कि रेप पीड़िता को आत्मदाह के लिए उकसाने के आरोप में अमरेश सिंह बघेल को वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस ने 30 सितंबर को बाराबंकी के हैदरगढ़ के डाफी टोल प्लाजा के पास से गिरफ्तार किया था. एक अक्तूबर को अमरेश सिंह बघेल को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया था, जहां से उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था. साथ ही देवरिया निवासी अमरेश सिंह बघेल ने वाराणसी के भेलूपुर सर्किल में सीओ रहते हुए दुष्कर्म के आरोपी अतुल राय को क्लीन चिट दी थी और मुकदमे में फिर से विवेचना की संस्तुति की थी. इसके बाद पुलिस महकमे में इस पर काफी हो हल्ला मचा तो शासन ने अमरेश सिंह बघेल को निलंबित करते हुए प्रयागराज के आईजी रेंज को जांच सौंपी थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें