पूर्व कांग्रेस विधायक के बेटे ने हथौड़े से की भाभी की हत्या,बहू ने कहा था-नपुंसक

Smart News Team, Last updated: 21/07/2021 02:23 PM IST
  • वाराणसी से एक खबर सामने आ रही है, जिसमें पूर्व कांग्रेसी विधायक के बेटे ने अपनी भाभी डॉ. सपना गुप्ता की हठौड़े से हत्या कर दी. आरोपी देवर ने पूछताछ में जुर्म कबूल की और कहा कि भाभी द्वारा नपुंसक कहे जाने पर उसने हमला किया.
नपुंसक कहे जाने पर देवर ने हथौड़े से की भाभी की हत्या.

वाराणसी. वराणसी सिगरा के चंद्रिका नगर कॉलोनी स्थित दत्ता डायग्नोटिक सेंटर में बुधवार को डॉ सपना गुप्ता की उनके देवर ने सिर पर हथौड़ा मारकर हत्या कर दी. मृतक डॉ सपना गुप्ता पूर्व कांग्रेस विधायक डॉ रजनीकांत दत्ता की बहू थी. मृतक डायग्नेटिक सेंटर के संचालक की पत्नी थी. घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. आरोपी रजनीकांत दत्ता के बेटे ने की पूछताछ में अपना जुर्म कबूल किया है. आरोपी ने कहा कि डॉ द्वारा नपुंसक कहे जाने पर उसने हथौड़ा और कैंची से उसपर हमला किया.

खबर के मुताबिक डॉ. सपना गुप्ता डायग्नेस्टिक सेंटर पर सुबह मरीजों की जांच कर रही थी. इस बीच आरोपी देवर सेंटर पर आया और डॉ सपना गुप्ता के सिर पर हथौड़ी से प्रहार कर दिया. घटना के समय सेंटर पर कई मरीज भी मौजूद थे. डॉ सपना के सिर पर चोट लगते ही वह जमीन पर गिर पड़ी और करीब 10 मिनट तक चिल्लाती रही जिसके बाद उन्होंने दम तोड़ दिया. घटना के बाद सेंटर पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. इस बीच घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और शव को अपन कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस इस मामले में तहरीर लेकर घटना की जांच कर रही है.

लखनऊ विवि ने की नकल पर रोक की पूरी तैयारी, बीएड प्रवेश परीक्षा पर रखेंगे नजर

घटना के पीछे का कारण संपत्ति विवाद का मामला बताया जा रहा है. दत्ता डायग्नेस्टिक सेंटर के संचालक और मृतक डॉ सपना गुप्ता के पति ने सोमवार को संपत्ति विवाद से जुड़े एक मामले को लेकर सिगरा थाने में तहरीर दी थी. बताया जा रहा है कि संपत्ति विवाद के कारण डॉ सपना गुप्ता की हत्या की गई है. हालांकि आरोपी देवर ने पूछताछ के दौरान भाभी द्वारा नपुंसक कहे जाने की बात की है. पुलिस दोनों एंगल से घटना की जांच कर रही है.

काशी, जनता, नौचंदी समेत चार दिनों तक पटरी पर नहीं दौड़ेगी 18 ट्रेन, देखें लिस्ट

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें