वाराणसी: लोन देने के नाम पर करोड़ों की ठगी, एडवांस में लिया ब्याज

Smart News Team, Last updated: 20/11/2020 06:35 PM IST
  • वाराणसी में फर्जी कंपनी ने लोन देने के नाम एडवांस में करोड़ रुपए ब्याज के रूप में ले लिए. पुलिस थाने में चार आरोपियों में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया.
वाराणसी में लोन देने के नाम पर करोड़ों रुपए की ठगी. प्रतीकात्मक तस्वीर

वाराणसी. वाराणसी में ऐसा मामला सामने आया है जिसमें लोन देने के नाम पर करोड़ों रुपए ठग लिए. चेन्नई की एक कंपनी ने लोन देने की बात कही. जिसमें कंपनी ने एडवांस में लोन के ब्याज के रूप में करोड़ों रुपए ले लिए और फिर बिना लोन दिए रफूचक्कर हो गए. जिसके बाद संजय ने पुलिस थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करवाया है.

ये मामला वाराणसी के नवलपुर थाना क्षेत्र का है. वाराणसी की विश्वनाथ काॅलोनी में संजय सिंह रहते हैं. संजय सिंह एक कंपनी के डायरेक्टर है. 2019 में उनको कंपनी चलाने के लिए पैसों की जरूरत थी. तब उन्होंने समाचार-पत्र में एक विज्ञापन देखा. जिसमें चेन्नई की एक कंपनी लोन दे रही थी. जिसके बाद उन्होंने उस लोन देने वाली कंपनी से संपर्क किया.

अजब-गजब: UP पुलिस ने शिकायत लिखने की जगह लूट करने वाले गुंडों से करा दी सुलह

संजय सिंह चेन्नई की कंपनी के लोगों से मिले. जिन्होंने संजय को बताया कि उनकी कंपनी प्रापर्टी पर लोन देती है. इसके लिए प्रापर्टी के कागज कंपनी के पासा रहते हैं. कंपनी ने संजय सिंह को 5 करोड़ रुपए का लोन देने की बात कही. कंपर ने उनको बताया कि इस लोन का तिमाही ब्याज 1 करोड़ 18 लाख 75 हजार रुपए होगा.

गर्ल्स हाॅस्टल के गाॅर्ड की हालत नाजुक, छेड़छाड़ का विरोध करने पर लगी थी गोली

कंपनी ने उनके सामने एक शर्त भी रखी कि आपको पहली किस्त एडवांस में देनी होगी. जिसके बाद आपको लो दिया जाएगा. कंपनी के लिए इतना ज्यादा लोन मिलने की बात सुनकर संजय सिंह खुश हो गए. 13 जनवरी 2020 को संजय ने करोड़ों रुपए एडवांस में दे दिए लेकिन उनको लोन नहीं मिला. जब काफी दिन हो गए तो उन्होंने शिवपुर थाने में चार आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज करवाया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें