काशी में बढ़ने लगा गंगा का जलस्तर, घाटों का टूटा संपर्क

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 11:12 AM IST
  • वाराणसी के काशी में पिछले 36 घंटों से गंगा का जल स्तर लगातार बढ़ रहा है. जिसके बाद लोगों में गंगा की दशहत बढ़ने लगी है. बीते 36 घंटों में गंगा के पानी में लगभग डेढ़ फिट वृद्धि हुई है.
वाराणसी

काशी के गंगा का जल स्तर तेजी से बढ़ने लगा है. अब तेजी से बढ़ता जल स्तर हर किसी को डरा रहा है. पिछले दो दिनों में गंगा का जल स्तर डेढ़ फिट से ज्यादा बढ़ा है. बढ़ते जल स्तर से कई घाटों का सम्पर्क भी टूट गया है. बीते दिन शिवाला घाट व ललिता घाट से मणिकर्णिका घाट की ओर जाने वाले रास्ते में पानी भर गया. गंगा सेवा निधि द्वारा दशाश्वमेघ घाट पर होने वाली गंगा आरती वाले जगह पर जल भी भर गया है और पानी चार सीढ़ी ऊपर आ गया है।

लगातार बढ़ता हुआ गंगा का जलस्तर पिछले 24 घंटों में प्रति घंटा एक से दो सेंटीमीटर ऊपर उठ रहा था. अब यह बढ़कर प्रति घंटे दो से तीन सेंटीमीटर हो गया है. केन्द्रीय जल आयोग ने जानकारी दी है कि सोमवार को सुबह आठ बजे तक 62.20 मीटर, सायं छह बजे तक 62.43 मीटर तथा रात आठ बजे तक सात सेंटीमीटर बढ़ोतरी के साथ जलस्तर 62.50 मीटर दर्ज किया गया था.

रविवार को सुबह आठ बजे तक जलस्तर 61.97 और रात आठ बजे तक 62.09 मीटर था. गंगा में बढ़ाव से नाविक भी सतर्क हो गए हैं. नाविकों ने बताया कि छोटी नावों को खोलने और उन्हें सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने का काम शुरू हो गया है. बढ़ाव के कारण शिवाला घाट का सबसे बड़ा प्लेटफार्म पानी में डूब चुका है. उस रास्ते पर बड़ी नौकाओं को बांधा गया है. ललिता घाट से मणिकर्णिकाघाट की तरफ विश्वनाथ कॉरिडोर के लिए बना कच्चा स्लोप पानी में डूबने लगा है. वहीं भदैनी से पंचकोट घाट जाने वाले रास्ते से पानी महज एक फुट नीचे रह गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें