वाराणसी: संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिमा पर हाई अलर्ट, NDRF की 11 टीम तैनात

Smart News Team, Last updated: Sun, 28th Feb 2021, 5:45 PM IST
  • वाराणसी में संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिमा पर पूरे शहर में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. पुलिस को निर्देश दिया गया है कि गंगा घाटों से लेकर डाफी बाईपास तक अतिरिक्त सतर्कता बरती जाए. 11 एनडीआरएफ की टीमें और पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं.
वाराणसी न्यूज बुलेटिन

वाराणसी. वाराणसी में संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिका को लेकर हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. शहर में 11 एनडीआरएफ की तीन टीमें भी तैनात कर दी गई हैं. त्योहार को लेकर ही गंगा घाटों से लेकर डाफी बाईपास तक पुलिस को अतिरिक्त सतर्कता बरतने का भी निर्देश दिया गया है. वहीं, स्थानीय अभिसूचना इकाई और इंटेलिजेंस ब्यूरो की अलग-अलग टीमें अपने-अपने स्तर के हिसाब से माहौल पर नजर रखे हुए हैं. बताया जा रहा है कि माघ पूर्णिमा के खास मौके पर गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं का हुजूम गंगा घाटों की सीढ़ियों पर उमड़ने लगा है.

वाराणसी के घाटों में खासकर बीते शुक्रवार की रात से ही श्रद्धालुओं की भीड़ देखने को मिल रही है. श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए ही जल पुलिस और 11 एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं. अनुमान लगाया जा रहा है कि संत रविदास जयंती के मद्देनजर सीरगोवर्धनपुर स्थित मंदिर में श्रद्धालुओं के साथ ही कई वीआईपी भी दर्शन के लिए आ सकते हैं, इसके साथ ही जिले के अलग-अलग स्थानों से झाकियां भी संत रविदास मंदिर के लिये आएंगी. ऐसे में वाराणसी में सुरक्षा और भी बढ़ाई जा रही है.

रविदास जंयती के मौके पर वाराणसी आ रही पिकप गाड़ी पलटी, एक की मौत, कई लोग घायल

त्योहारों पर बढ़ती भीड़ के कारण संत रविदास जयंती की पूर्व संध्या पर बीते शुक्रवार को एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी के साथ एसएसपी अमित पाठक ने मंदिर, सत्संग स्थल, लंगर, पंडालों और सेवादारों के ठहरने के स्थान सहित आसपास के क्षेत्रों की जांच-पड़ताल की. इसके साथ ही डॉग स्क्वायड और बम निरोधक दस्ते ने भी पूरे क्षेत्र का चप्पा-चप्पा खंगाला. वहीं, ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों और पीएसी के जवानों को एसएसपी ने निर्देश दिया कि भीड़ का दबाव मंदिर और उसके आसपास नहीं बढ़ना चाहिए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें