पति-पत्नी के झगड़ों में पांच फीसदी इजाफा, UP के इस शहर में सबसे ज्यादा मामले

Smart News Team, Last updated: Tue, 25th May 2021, 9:24 AM IST
  • कोरोना की इस दूसरी लहर में पति-पत्नी के बीच झगड़े बढ़ रहे हैं. मनोविज्ञानियों का मानना है कि लॉकडाउन और महामारी ने लोगों में अनावश्यक तनाव पैदा किया है. जिसके कारण लोगों में चिड़चिड़ापन है जो घरेलू झगड़ों का रूप लेता है.
लखनऊ में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान सबसे ज्यादा पति-पत्नी के झगड़ों में इजाफा हुआ है.

वाराणसी. अरविंद मिश्र. कोरोना महामारी की इस काल ने पति-पत्नी के झगड़ों में भी इजाफा कर दिया है. बीएचयू के मनोविज्ञानियों ने इसका खुलासा करते हुए बताया कि सामान्य दिनों में हर हफ्ते 18 या 20 काउंसलिंग के मामले सामने आते थे. वहीं अब इनकी संख्या 95 से 100 के बीच पहुंच गई है. बीएचयू के मनोविज्ञानियों की सात सदस्यों की टीम के अनुसार पति-पत्नी के झगड़ों के कारण बहुत मामूली होते हैं.

लॉकडाउन के कारण सभी लोग घर में हैं जिसमें घरेलू काम झगड़ों का सबसे बड़ा मुद्दा होता है. बच्चों की देखभाल, ज्यादातर समय सोशल मीडिया पर ही बिताना, खाने के आइटमों की फरमाइश करना और शराब भी झगड़ों का कारण बन रही है. कोरोना की दूसरी लहर में बीते दो महीनों के आंकड़े देखने पर पता लगता है कि पति-पत्नी के अधिकतर झगड़े यूपी की राजधानी लखनऊ से आए हैं.  

वाराणसी एयरपोर्ट पर खुद को CISF का जवान बताकर ऐसे ठग लिए पैसे

पिछले दो महीने में पति-पत्नी के झगड़ों के कुल 808 मामले दर्ज हुए हैं. जिसमें से सबसे ज्यादा 15 फीसदी लखनऊ से हैं. कानपुर में 13 फीसदी, मेरठ में 11 फीसदी, बरेली में 10 फीसदी, आगरा में नौ फूीसदी, बनारस और गोरखपुर में सात-सात फीसदी, प्रयागराज में पांच फीसदी, मुरादाबाद में चार फीसदी,मामले हैं.

आईआईटी बीएचयू के मनोविज्ञानी डॉ. लक्ष्मण यादव का कहना है कि पति-पत्नी के बढ़ते झगड़ों का एकमात्र कारण अनावश्यक तनाव है. जिसके कारण लोगों में चिड़चिड़ापन, घबराहट बढ़ रही है. इन्हीं कारणों से पति-पत्नी या घरों में झगड़े बढ़ रहे हैं. 

कोरोना थर्ड वेव में बच्चों के प्रभावित होने की आशंका पर सरकार ने दिया बड़ा बयान 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें