GST फर्जीवाड़े को लेकर 4777 फर्मों का रजिस्ट्रेशन निरस्त

Smart News Team, Last updated: Sat, 20th Mar 2021, 1:01 PM IST
  • वाराणसी में जीएसटी फर्जीवाड़े को लेकर 4777 फर्मों को के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनका रजिस्ट्रेशन निरस्त कर दिया गया है. मामले को लेकर वाणिज्यकर विभाग ने जीएसटी में पंजीकृत फर्मों की जांच भी शुरू कर दी है.
GST फर्जीवाड़े को लेर 4777 फर्मों का रजिस्ट्रेशन निरस्त (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाराणसी में जीएसटी फर्जीवाड़े को लेकर 4777 फर्मों को को निशाना बनाया गया है, साथ ही उनका रजिस्ट्रेशन निरस्त करने का भी फैसला किया गया है. दरअसल, वाणिज्यकर विभाग ने जीएसटी में पंजीकृत फर्मों की जांच शुरू कर दी है. उनकी जांच में 4777 ऐसी फर्में चिह्नित की गई हैं, जिनका कारोबार कागजों पर दिखाया गया है, साथ ही वह आईटीसी का लाभ भी ले रही हैं. लेकिन धरातल पर उन फर्मों का कोई भी पता नहीं है.

इन फर्मों को लेकर व्यापारियों ने नोटिस जारी करने का फैसला किया है, साथ ही उसपर जुर्माना लगाने का भी निर्णय किया है. इस मामले पर बात करते हुए अधिकारियों ने कहा कि फर्जी फर्म और प्रांत से बाहर की खरीद-बिक्री में फर्जीवाड़ा करने वाली फर्मों की आईटीसी को ब्लॉक कर दिया गया है. इन सभी फर्जी फर्मों द्वारा अवैध तरीके से 48 करोड़ रुपए का क्लेम लेने का दावा किया गया था, लेकिन प्रशासन ने जांच के बाद इन राशि को भी ब्लॉक कर दिया.

रसूक के बल पर थानों में जलती थी बिजली, अब विभाग ने किया कार्रवाई का फैसला

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान फर्म पंजीयन की जांच शुरू की गई थी, जिसमें फर्मों की यह गड़बड़ी सामने आ गई. वहीं, दूसरी और अधिकारियों ने मामले के बारे में बताया कि मई और जून में पंजीयन नहीं के बराबर हुए थे. लेकिन जुलाई से फरवरी तक जीएसटी में पंजीकृत 16858 फर्मों की पोर्टल से कारोबारी गतिविधियों पर निगरानी रखी गई तो कागजी और कर चोरी में लिप्त फर्म के फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ. अपर आयुक्त वारणिज्य कर अधिकारी मिथिलेश कुमार शुक्ल ने कहा कि जीएसटी में कर चोरी करने वालों की जांच पड़ताल की जा रही है. विभागीय जांच में फर्जी फर्में बनाकर कागजी कारोबार करने वाले फर्मों का रजिस्ट्रेशन निरस्त किया गया है.

वाराणसी में एक मंदिर ऐसा भी जहां इन लोगों का प्रवेश है वर्जित, जानें मामला

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें