वाराणसी में वीकेंड लॉकडाउन से पहले 29 और 30 अप्रैल को भी बाजार बंद, ये है वजह

Smart News Team, Last updated: Wed, 28th Apr 2021, 9:22 PM IST
वाराणसी में 4 दिनों के लिए शहर की दुकानें और प्रतिष्ठान बंद रहेंगे. 29 और 30 अप्रैल को दुकान और प्रतिष्ठान बंद करने का फैसला वाराणसी के व्यापार मंडल के प्रतिनिधियों ने आपसी सहमत से लिया है. व्यापारियों के दो दिन के बंद के बाद शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक सप्ताहिक लॉकडॉउन लग जाएगा.
साप्ताहिक लॉकडाउन. (प्रतीकात्मक फोटो)

वाराणसी : वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने शहर में बढ़ते लगातार कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 29 और 30 अप्रैल को शहर के सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों और दुकानों को बंद करने का निर्देश दिया है. इन दो दिनों के बंद के बाद 1 और 2 मई को साप्ताहिक लॉकडाउन लग जाएगा. ये बंद किसी भी प्रकार का लॉकडाउन नहीं है. इस बंद के दौरान शहर में लोग आवश्यक कामों के लिए आवागमन कर सकते हैं. वाराणसी शहर में 29 और 30 अप्रैल का बंद व्यापार मंडल के प्रतिनिधियों के आपसी सहमति से लिया गया निर्णय है. यह साफ स्पष्ट किया गया है कि शुक्रवार की रात 8 बजे से सोमवार की सुबह 7 बजे तक वीकेंड लॉकडाउन पहले की तरह ही जारी रहेगा.

इस बंद के दौरान जरूरी खाने पीने की वस्तुएं फल ब्रेड सब्जी दूध बेकरी, अनाज गल्ले, रिटेल दुकान जैसे सभी दुकाने दोपहर 12 बजे तक खोली जा सकती हैं. इस उक्त अवधि के दौरान मेडिकल आपूर्ति मेडिकल की दुकानें मेडिकल टेस्ट, ब्लड कलेक्शन सेंटर, ब्लड टेस्ट करने वाली लैब, सभी निजी और सरकारी मेडिकल और प्राइवेट प्रैक्टिस क्लीनिक एंबुलेंस अस्पताल और अन्य मेडिकल सेवाएं इस सभी प्रतिबंध से मुक्त होंगे. मेडिकल वस्तुओं की सप्लाई करने वाले कुरियर ट्रांसपोर्ट ऑफिस ई-कॉमर्स इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे. शहर के पेट्रोल पंप, ऑक्सीजन गैस के वेंडर्स व सप्लायर, गैस एजेंसी, आबकारी की दुकान, न्यूज़पेपर बेचने वाले, हार्डवेयर की दुकान, औद्योगिक इकाइयां, सरकारी निर्माण कार्य इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे.

वाराणसी में आपदा में अवसर तलाश कर रहे थे रेमडेसिविर की कालाबाजारी, तीन गिरफ्तार

इस बंद के दौरान सरकारी और निजी साधनों के आवागमन के साधन ऑटो, रिक्शा, टैक्सी आदि पर कोई प्रतिबंध नहीं है. यह दो दिनों का बंद का मुख्य कारण कोरोना की दूसरी लहर है जिसने वाराणसी शहर को भयानक रूप से अपने चपेट में लिया है. वाराणसी में पिछले कई दिनों से प्रतिदिन 1800 से अधिक संक्रमित मरीज मिल रहे हैं. मरीजों की बढ़ती संख्या से पूरे वाराणसी में लगभग 700 से अधिक कंटेंनमेंट जोन बन चुके हैं. वाराणसी शहर के कई इलाके संक्रमण से बुरी तरह प्रभावित हैं.

वाराणसी में हालात डरावने, सपा नेता विवेक यादव का कोरोना से निधन

यूपी की योगी सरकार ने ऑक्सीजन सप्लाई को उठाया बड़ा कदम, बनाया गया कंट्रोल रूम

योगी सरकार ने दिया कोवैक्सीन और कोविशील्ड के 50-50 लाख डोज का ऑर्डर

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें