वाराणसी में बीएसएनएल को बिना स्वीकृति केबल बिछाना पड़ा महंगा

Smart News Team, Last updated: 08/08/2020 09:28 PM IST
  •  वाराणसी के रामेश्वर में पंचकोशी मार्ग पर इंटरनेट लाइन डालने के दौरान पीडब्ल्यूडी इंजीनियर और बीएसएनएल के ठेकेदार आमने-सामने हो गए. इसके बाद इंजीनियर ने ठेकेदार के खिलाफ जंसा पुलिस थाने में मामला दर्ज करवा दिया.
बीएसएनएल

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में रामेश्वर पंचकोशी मार्ग के किनारे बीएसएनएल द्वारा बिना अनुमति के पटरी के ट्रैक को खोद कर केबल डालने को लेकर बीएसएनएल के ठेकेदार और पीडब्ल्यूडी विभाग इंजीनियर के बीच जमकर कहासुनी हो गई. इंजीनियर शरदचंद्र यादव ने जंसा पुलिस थाने पहुंच ठेकेदार के खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया. साथ ही थानाध्यक्ष से खुदाई कार्य रूकवाने की भी मांग रख दी.

जानकारी मिली है कि माडल ब्लॉक सेवापुरी के प्रत्येक गांव को ब्राडबैंड से जोड़ने के लिए बीएसएनएल द्वारा भूमिगत केबिल डालने का कार्य किया जा रहा है. जिसके चलते पंचकोशी मार्ग पर स्थित डेहरिया विनायक से हरिहरपुर गांव तक सड़क किनारे इंटर लॉकिंग पर गढ्ढा खोदकर केबिल डाली जा रहा थी. जिसकी जानकारी मिलते ही पीडब्ल्यूडी विभाग के इंजीनियर और अन्य लोग मौके पर पहुंच गए. मौके पर बिना स्वीकृति काम कर रहे ठेकेदार से जब पीडब्ल्यूडी अधिकारियों ने स्वीकृति लेने की बात कही तो दोनों में कहासूनी शुरू हो गई. जिसके बाद बीएसएनएल और पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारी आमने सामने हो गए. वहीं पूरे मामले में थानाध्यक्ष आशीष कुमार भदौरिया ने बताया कि तहरीर मिली है. लेकिन उन्होंने कहा कि बीएसएनएल केन्द्र सरकार के आदेश पर कार्य करवा रही है, उस कार्य को मुझे रोकने का कोई अधिकार नही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें