वाराणसी की गंगा में बनेगा खूबसूरत आइलैंड, टूरिस्ट उठाएंगे बीच का लुफ्त

Smart News Team, Last updated: 23/02/2021 05:58 PM IST
  • पर्यटन विभाग ने वाराणसी में गंगा पार इलाके में समुद्री बीच जैसा माहौल देने की योजना बनायी है. इसके साथ ही गंगा नदी के बीच में आइलैंड भी विकसित किया जाएगा. इसके अलावा यहाँ पैराग्लाइडिंग, स्कूबा डाइव, वॉटर स्पोर्ट्स जैसी सुविधाएं भी उपलब्ध करायी जाएंगी.
पर्यटन विभाग ने गंगा नदी के बीच में आइलैंड बनाने की योजना बनाई है. (प्रतिकात्मक फोटो)

वाराणसी- पर्यटन विभाग ने गंगा नदी के बीच में आइलैंड विकसित करने की योजना बनायी है. यह आइलैंड 850 मीटर लंबा होगा. इसके साथ ही अस्सी घाट के दूसरी ओर रामनगर में रेती पर सी बीच जैसा माहौल बनाया जाएगा. इसके अलावा यहाँ पर पैराग्लाइडिंग, स्कूबा डाइव जैसी गतिविधियों से संबंधित सुविधाएं भी मौजूद होंगी. इसके साथ ही यहाँ रिलेक्सिंग चेयर, ऊंट, हाथी, घोड़े की सवारी भी होगी और इस एरिया को छोटे मेले का स्वरूप दिया जाएगा.

पर्यटकों की बड़ी संख्या को देखकर पर्यटन विभाग ने इस इलाके को समुद्र के बीच की तरह विकसित करने का फैसला किया है. इस योजना के लिए पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप का सहारा लेने की भी संभावना है. इस योजना से गंगा पार क्रियाकलापों में भी वृद्धि होगी. जिससे नाविकों की आय में बढ़ोत्तरी होगी. गंगा नदी में ड्रेजिंग का काम पूरा होने के बाद और बजट मिलने के बाद इस योजना पर काम शुरू हो जाएगा.

BHU में दूसरे दिन भी जारी रहा छात्रों का प्रदर्शन, आसपास के इलाकों में लगा जाम

असल में रामनगर इलाके में रेती जमा होने के कारण घाटों का दबाव बढ़ गया है. इसके साथ ही गंगा का प्रवाह भी प्रभावित हुआ है. इस कारण गंगा के प्रवाह को निरंतर करने के लिए ड्रेजिंग का काम शुरू होगा. जिसके लिए शासन ने अनुमति दे दी है. इसके बाद लगभग 1200 मीटर हिस्से के रेत के टीले को काटकर नहर विकसित की जाएगी. जिससे गंगा का प्रभाव सामान्य होगा. जिसके बाद पर्यटन विभाग यहाँ आइलैंड का काम शुरू करेगा. इस संदर्भ में मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल का कहना है कि सिंचाई विभाग की रिपोर्ट के बाद शासन ने गंगा में ड्रेजिंग की अनुमति दे दी है. पहले 45 मीटर चौड़ी नहर बनाई जाएगी. इसके बाद गंगा में आयलैंड बनाया जाएगा. जिसे पर्यटन विभाग, पर्यटकों के लिए विकसित करेगा. इसके अलावा गंगा पार रेती पर गतिविधियों के होने से घाटों का दबाव भी कम होगा.

सांस्कृतिक समाजवाद का शिक्षण देने वाला पहला विश्वविद्यालय बनेगा बीएचयू

27 साल पहले मिलावट के मामले में दोषी को अब मिली एक साल की सजा, जानें मामला

नशीली दवा के गोरखधंधे पर STF का एक्शन, 1 करोड़ की कफ सीरप जब्त, 5 अरेस्ट

आईआरआरआई- सार्क ने दिया कम पानी की धान प्रजाति विकसित करने पर जोर

CM हेल्पलाइन में भर्ती के लिए 24 को रोजगार मेला, टेलिकॉलर पद पर होगी भर्ती, जानें डिटेल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें