वाराणसी के काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में गोयनका छात्रावास का एक हिस्सा गिरा, दो मजदूरों की मौत

Smart News Team, Last updated: Tue, 1st Jun 2021, 8:56 AM IST
  • वाराणसी के काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के गोयनका छात्रावास में आज यानि मंगलवार सुबह एक हादसा हो गया. छात्रावास का एक हिस्सा गिरने से मलबे कुछ मजदूर दब गए, जिसमें बंगाल के रहने वाले दो मजदूरों की मौत हो गई. कॉरिडोर के कार्य चलने के कारण मजदूर छात्रावास में रह रहे थे. हादसे में आठ लोगों के घायल होने जानकारी मिली है. 
वाराणसी के काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के गोयनका छात्रावास का एक हिस्सा गिरने से दो मजदूरों की मौत हो गई.

वाराणसी: वाराणसी के राज राजेश्वरी मन्दिर के पास काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लिए अधिग्रहित गोयनका छात्रावास का एक हिस्सा गिरने से दो मजदूरों की मौत हो गई. हादसे में सात मजदूर घायल बताए जा रहे है. जबकि एक की हालत नाजुक बनी हुई है. जानकारी के अनुसार, हादसा मंगलवार की भोर में चार बजे हुआ. हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस-प्रशासन के आला आधिकारी और मंदिर के लोग मौके पर पहुंच गए. मृतकों में पहचान पश्चिम बंगाल के मालदा के कलिया चक थाना क्षेत्र के शाहीचक गांव निवासी 25 वर्षीय एबादुल मोमिन और 45 वर्षीय अमीनुल मोमिन के रूप में हुई हैं.

सोमवार को कार्य करने के बाद मजदूर गोयनका छात्रावास के एक हिस्से के नीचे सोये थे. सुबह-सुबह गोयनका छात्रावास का जर्जर हिस्सा भरभरा कर गिर पड़ा. जिसमें वहां सो रहे मजदूर दब गए. वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने अन्य मजदूरों की मदद से सभी को मलबे से बाहर निकाल कर मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया. हादसे में घायल इमरान, आरिफ मोमिन, शाहिद अख्तर, सकीउल मोमिन, हाकिम खान और आरिफ मोमिन को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई.

वाराणसी में बारिश के बाद मनमोहक हुआ दृश्य, ड्रोन से सैनिटाइजेशन

एसओ दशाश्वमेध राजेश सिंह ने बताया कि अब्दुल जब्बार की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है. उन्होंने कहा कि मृतक मजदूरों के परिवार को सूचना दी गयी है. घायल और मृतक सभी एक गांव के हैं। सभी यहां कॉरिडोर में मजदूरी करने के लिए आये थे, छात्रावास के नीचे सो रहे थे.

किराए के घर में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, फोन पर होती थी डील, 3 कॉल गर्ल अरेस्ट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें