काशी विश्वनाथ धाम में खड़ाऊ पहनकर ड्यूटी करेंगे गार्ड, जूते-चप्पल की एंट्री नहीं

Smart News Team, Last updated: Sat, 1st Jan 2022, 7:48 PM IST
  • वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ धाम में अब सुरक्षाकर्मी (सिक्योरिटी गार्ड) खड़ाऊ पहनकर ड्यूटी करते हुए नजर आएंगे. मंदिर प्रशासन की पहल पर 180 खड़ाऊ का प्रबंध किया जा रहा है. मंदिर में जूते-चप्पल पहनकर किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा.
काशी विश्वनाथ धाम में खड़ाऊ पहने नजर आएंगे सुरक्षाकर्मी (प्रतीकात्मक फोटो)

वाराणसी: प्रमुख ज्योतिर्लिंग बाबा विश्वनाथ धाम में अब सुरक्षाकर्मी खड़ाऊ पहनकर ड्यूटी करते हुए नजर आएंगे. बताया जा रहा है कि मंदिर प्रशासन की पहल के बाद सुरक्षाकर्मियों के लिए 180 जोड़ी खड़ाऊ मंगाए गए हैं. साथ ही मंदिर परिसर में किसी भी व्यक्ति को जूते-चप्पल के साथ एंट्री नहीं दी जाएगी. अमूमन सुरक्षाकर्मी नंगे पैर ही ड्यूटी करते हैं, मगर ठंड में दिक्कत होने से उन्हें खड़ाऊ दी जा रही है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक काशी विश्वनाथ धाम में ड्यूटी करने वाले सुरक्षाकर्मियों के लिए 180 खड़ाऊ का प्रबंध किया जा रहा है. गर्भ गृह और आसपास के क्षेत्र में तैनात सुरक्षाकर्मियों को खड़ाऊ दी जाएगी. ताकि ठंड में उन्हें ड्यूटी करने में परेशानी नहीं आएगी. बताया जा रहा है कि ये पुरानी परंपरा है. हर बार सर्दियों के समय कर्मचारियों के लिए खड़ाऊ का इंतजाम किया जाता है.

कारसेवकों पर गोलियां चलाने वालें जितना भी जोर लगा लें राम मंदिर बनेगा- अमित शाह 

मंदिर प्रशासन का कहना है कि परिसर में किसी भी व्यक्ति को जूते-चप्पल पहनकर प्रवेश नहीं दिया जाएगा. भक्तों को अपने जूते-चप्पल बाहर ही उतारने होंगे. ठंड में उनकी सुविधा के लिए मंदिर के अंदर चारों ओर मैट बिछाया जाएगा.

नए साल में फिर वाराणसी आ सकते हैं पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नए साल में एक बार फिर वाराणसी आ सकते हैं. वे अगले हफ्ते काशी में रोप-वे का उद्घाटन कर सकते हैं. पिछले महीने ही उन्होंने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन किया था.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें