चौकाघाट दोहरे हत्याकांड में किट्टू को संरक्षण देने में उसके चाचा और बहनोई अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 21/11/2020 02:14 PM IST
  • चौकाघाट दोहरे हत्याकांड में किट्टू के चाचा और बहनोई को पुलिस ने उसे संरक्षण देने के आरोप में किया गिरफ़्तार, एसएसपी ने किट्टू पर इनाम की बढाकर राशि बढ़ाकर 1 लाख कर दी है.
वाराणसी के चौकाघाट हत्याकांड में पुलिस ने किट्टू को सरक्षण देने वाले चाचा और बहनोई को गिरफ्तार किया है.

वाराणसी: चौकाघाट दोहरे हत्याकांड में फरार चल रहे रोहन गुप्ता उर्फ़ किट्टू को संरक्षण देने के आरोप में उसके चाचा और बहनोई को शुक्रवार को गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया गया. दोनों गिरफ़्तारी बड़ी पियरी स्थित किट्टू के चाचा के मकान से हुई.

जैतपुर इंस्पेक्टर शशिभूषण राय ने बताया कि पुलिस ने सूचना के आधार पर उसके चाचा कमलेश गुप्ता के यहां दबिश दी. इसके पहले ही रोशन गुप्ता वहां से भाग निकला, लेकिन मौके पर उसके चाचा कमलेश गुप्ता उर्फ़ काजू और छोटा लालपुर निवासी बहनोई राहुल गुप्ता मिले. दोनों को संरक्षण देने के आरोप में पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया. आशंका है कि किट्टू अपनी बहन के घर छोटा लालपुर में छिपा हुआ था. जो कि पुलिस चौकी से महज कुछ ही दूरी पर स्थित है.

वाराणसी: पुलिस ने 35 गैंगस्टरों पर की कार्रवाई, 23 करोड़ की संपत्ति जब्त

 

चौकाघाट काली मंदिर के निकट 28 अगस्त की सुबह विवेक सिंह कट्टा के इशारे पर असलहा तस्कर अभिषेक सिंह प्रिंस की हत्या कर दी गई थी, जबकि गोली लगने से एक ट्राली चालक मारा गया था.

वाराणसी: पुरानी रंजिश में घर बुलाकर रिश्तेदार ने गोली मारकर की हत्या

 

मुख्य आरोपी से पूछताछ और विवेचना में उक्त प्रकरण में बड़ी पियरी के रोशन गुप्ता उर्फ़ किट्टू के भी शामिल होने की जानकारी सामने आई. फरार किट्टू पर 25 हज़ार रूपए और फिर 50 हज़ार रुपए और अब एसएसपी ने 1 लाख रुपए का इनाम घोषित करने की संतुति की है.

अजब-गजब: UP पुलिस ने शिकायत लिखने की जगह लूट करने वाले गुंडों से करा दी सुलह

पहला पति अवैध संबंध के सदमे से मरा, दूसरे ने मोड़ लिया मुंह, प्रेमी के घर गई तो…

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें