वारणसी में अपराध पर लगाम लगाने में नाकाम पुलिस, एक SHO सस्पेंड, एक लाइन हाजिर

Smart News Team, Last updated: 22/11/2020 05:03 PM IST
  • क्षेत्र में बढ़ती आपराधिक घटनाओं के बाद लालपुर-पाण्डेयपुर थाना प्रभारी निरीक्षक वेद प्रकाश राय निलंबित, शिवपुर और भेलूपुर के प्रभारी लाइन हाजिर.
वाराणसी में बढे अपराध, लालपुर दारोगा सस्पेंड साथ ही भेलूपुर प्रभारी लाइन हाजिर

वाराणसी: पाण्डेयपुर क्षेत्र में अपराध पर लगाम न होने पर एसओ निलंबित. शिवपुर और भेलूपुर के प्रभारी लाइन हाजिर. लूट-कांड के साथ ही महिला को गोली मारने की घटना में अब तक कोई प्रगति नहीं होने और साथ हीवरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने लालपुर-पाण्डेयपुर थाना प्रभारी निरीक्षक वेद प्रकाश राय को उच्चाधिकारियों द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुरूप कार्य न करने, कर्तव्य के प्रति लापरवाही,और क्षेत्र में बढ़ते अपराध पर, अनुशासनहीनता व स्वेच्छाचारिता के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया. साथ ही विभागीय जांच के भी आदेश दिए गए हैं.

उधर शिवपुर और भेलूपुर क्षेत्र में भी लगातार छिटपुट आपराधिक घटनाएं सामने आती रही हैं. निर्देश के बावजूद संबंधित थाना प्रभारियों की लापरवाही सामने आई. भेलूपुर थाना प्रभारी अजय श्रोतिया और शिवपुर थाना प्रभारी नागेश सिंह को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया है. बता दें कि लालपुर थाना क्षेत्र में इन दिनों लगातर काई आपराधिक वारदात हुईं हैं. किसी भी मामले में पुलिस को सफलता नहीं मिली है. लालपुर मस्जिद के पास शनिवार को भतीजे ने चाचा की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

वाराणसी: छठ पूजा के लिए जा रही महिला का एक्सीडेंट, अस्पताल में मौत

क्या हुआ था लालपुर में ?

छोटा लालपुर मस्जिद के निकट चचेरे बड़े भाई के मकान में ट्रांसपोर्ट व्यवसायी शाहिद इकबाल उर्फ मुन्ना (45) की उनके भतीजे ने ही गोली मारकर हत्या कर दी. गोली लगने से तत्काल ट्रांसपोर्टर की मौत हो गई. आरोपित भतीजा फरीद उर्फ जुगनू (35) फरार हो गया. एसएसपी अमित पाठक ने घटनास्थल का मुआयना करने के साथ ही घर के सदस्यों से पूछताछ की.

चौकाघाट दोहरे हत्याकांड में किट्टू को संरक्षण देने में उसके चाचा और बहनोई अरेस्ट

गोली ट्रांसपोर्टर के सिर में दाहिने तरफ मारी गई. मृतक की पत्नी चांदबीबी की तहरीर पर फरीद के खिलाफ मुकदमा कायम किया गया है. बताया जा रहा है कि शाहिद ने 1992 में फरीद के पिता की हत्या कर दी थी और वह उसकी सजा भुगत रहा था।. फिलहाल शाहिद इकबाल जमानत पर था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें