कर्ज में डूबे युवक का शव गंगा नदी में मिला, हत्या या आत्महत्या अभी तक साफ नहीं

Smart News Team, Last updated: 13/12/2020 05:36 PM IST
  • वाराणसी के लंका थाने के अंतरगर्त करौंदी सुंदरपुर के निवासी हैदर अली का शव गंगा नदी के किनारे मिला. वह हमेसा अपने कर्जदारों को पैसे नहीं दे पाने के कारण परेशान रहता था.
कर्ज से परेशान युवक का शव गंगा नदी में मिला

वाराणसी के लंका थाना क्षेत्र में एक युवक ने कर्जदारों से परेशान होकर अपनी जान दे दी. युवक ने गंगा नदी में कूदकर अपनी जान दे दी. युवक का शव जब सोमवार को सामनेघाट इलाके में गंगा में वहां के स्थानीय लोगो ने देखा. जिसके बाद उन लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बीएचयू भेज दिया. बताया जा रहा है कि मृतक युवक का नाम 27 वर्षीय हैदर अली है और वह करौंदी सुंदरपुर का निवासी है.

पुलिस ने मृतक के परिजनों को इसकी सूचना दी तो मृतक के पिता रोजन अली और छोटे भाई शमशेर अली बीएचयू मर्चरी पहुंचे. जहाँ पर उन्होंने बताय कि हैदर लंका थाने के पास एक निजी अस्पताल में वार्ड सहायक का काम करता था. उसके बाद दुर्गाकुंड के पास एक फ़ूड शॉप पर भी काम किया करता था, लेकिन कोरोना महामारी के चलते अस्पताल की नौकरी छूट गई थी. जिसके बाद उसने इलाके कई कर्जदारों से पैसे कर्ज पर ले लिया था. जिसे वह चूका नहीं पा रहा था और कर्जदार उसे रोज पैसे के लिए बोलते थे. जिससे वह बेहद परेशान रहता था.

वाराणसी में ट्रेन से कटी मां और दो बेटियां, सुसाइड या हादसा अभी साफ नहीं

मृतक हैदर के पिता ने आगे बताया कि बीते 10 दिसम्बर को वह रोज कि तरह घर से काम पर निकला था. दुर्गाकुंड स्थित दुकान पर पहुँच कर उसने काम भी किया था, लेकिन उस दिन वह घर आपस नहीं आया तो उसकी काफी खोज बिन किया गया था और थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट भी लिखवाई थी.

वाराणसी: काशी के सिटी रेलवे स्टेशन पर बढ़ेगी ट्रेनों की फ्रीक्वेंसी

हैदर के मौत होने के बाद से माँ सरवरी बनो, पत्नी जरीना बनो और उसके दोनों बच्चो का रो रोकर बुरा हाल है. वहीँ पुलिस का इस घटना पर कहना है कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद और परिजनों के शिकायत के बाद ही आगे कि कोई कार्यवाही किया जाएगा.

मोटापे से ऐसे रहें दूर, खतरा बन सकता है कोरोना संक्रमण

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें