वाराणसी: आज भी नहीं चला सारनाथ में लाइट एंड साउंड शो, पर्यटकों के टिकट वापस

Smart News Team, Last updated: 12/12/2020 08:26 PM IST
  • सारनाथ महात्मा बुद्ध जीवन पर लाइट एंड साउंड शो शनिवार को नहीं चला. शो वाले पार्क में पानी भर जाने के चलते शो को रद्द रकना पड़ गया. लाइट एंड साउंड शो नहीं चलने पर पर्यटक पुलिस पर्यटकों को टिकट वापस किया.
लाइट एंड साउंड शो नहीं चलने पर पर्यटक पुलिस पर्यटकों को टिकट वापस किया

वाराणसी. सारनाथ के पुरातात्विक उत्खनित स्थल महात्मा बुद्ध के परिसर में शनिवार को पानी भर गया. परिसर में पानी भर जाने के चलते रोज होने वाले महात्मा बुद्ध के ऊपर लाइट और साउंड शो नहीं हो पाया. शो के नहीं चलने के कारण वहां पर आए पर्यटक मायूस होकर वापस लौटना पड़ा. साथ ही पर्यटक पुलिस को वहां पर मौजूद 31 पर्यटकों को टिकट का पैसा वापस करना पड़ा. महात्मा बुद्ध का यह स्थल पुरे विश्व में प्रशिद्ध है. आपको बता की शो नहीं चल पाने का मुख्य कारण दो विभागों में खीचतानी है.

आपको बता दे कि भगवन बुद्ध के जीवन पर होने वाला लाइट और साउंड शो प्रधानमंत्री ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत सात करोड़ 88 लाख रुपए में तैयार हुआ है. जिसका संचालन पर्यटक विभाग करता है. जानकारी के अनुसार शनिवार को पुरातत्व विभाग के कर्मचारियों ने शाम पांच बजे लाइट और साउंड शो होने वाले पार्क में पानी भर दिया था. जिसके चलते शनिवार का शो नहीं चल पाया.

पैसेंजर ट्रेनें अब एक्सप्रेस की तरह दौड़ रहीं, पूर्वोतर रेलवे ने बदला शेड्यूल

इस शो को देखने के लिए पर्यटक देश-विदेश से सारनाथ आते है. इसी तरह शनिवार को जयपुर से पहुंचे सुनील ने बताया कि उन्होंने ने बनारस के भगवन बुद्ध के जीवन पर चलने वाले लाइट और साउंड शो के बारे में सुना था. जिसको देखने के लिए वह वाराणसी आए थे, लेकिन जब वह वहां पहुंचे तो उन्हें पता चला कि शो वाले पार्क में पानी भर जाने से शो नहीं चलेगा.

BHU Counselling: डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए काउंसलिंग 15 से 17 को

वहीं जयपुर से ही अपने परिवार के साथ आई शालिनी ने कहा कि वह सारनाथ गहने आई थी. उन्हें पता चला कि पुरातात्विक उत्खनित स्थल परिसर में महात्मा बुद्ध के ऊपर लाइट एंड साउंड होता है. उसे देखने के लिए वह सारनाथ में ही रुक गई, लेकिन शो नहीं हुआ तो उन्हें इसका काफी दुःख हुआ.

31 मार्च तक अगर PAN-Aadhar लिंक नहीं किया तो, हो सकता है 10 हजार का जुर्माना

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें