कम नंबर मिलने पर काशी विद्यापीठ में छात्रों का हंगामा, महिला टीचर को बनाया बंधक

Somya Sri, Last updated: Wed, 8th Dec 2021, 1:15 PM IST
  • महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में कम नंबर मिलने पर छात्रों ने हंगामा खड़ा कर शिक्षिका को क्लास रूम में बंद कर बंधक बना लिया. छात्रों ने शिक्षिका पर आरोप लगाया कि उन्होंने जानबूझकर नंबर कम दिए हैं. वहीं चीफ प्रॉक्टर के मौके पर पहुंचने से पहले ही आरोपी छात्र फरार हो गए. विश्वविद्यालय प्रशासन ने जल्द ही आरोपी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है.
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ (फाइल फोटो)

वाराणसी: महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में कम नंबर मिलने पर छात्रों ने हंगामा शुरू कर दिया. इस दौरान छात्रों ने शिक्षिका को क्लास रूम में बंद कर बंधक बना लिया. एलएलबी और एलएमके छात्रों ने शिक्षिका पर आरोप लगाया कि उन्होंने जानबूझकर नंबर कम दिए हैं. जिसके बाद वे शिक्षिका को क्लास रूम में बंद कर हंगामा शुरू कर दिए. मामले की खबर जब चीफ प्रॉक्टर समेत कई अन्य शिक्षकों को मिली तो वह तुरंत मौके पर पहुंचे. हालांकि तब तक हंगामा करने वाले सभी छात्र भाग निकले.

जानकारी के मुताबिक विधि संकाय में छात्रों ने कम नंबर देने का आरोप लगाकर शिक्षिका डॉ शिल्पी गुप्ता को क्लास रूम में बंद कर दिया.एलएलबी और एलएमके के छात्राओं ने शिक्षिका पर आरोप लगाया कि उन्होंने जानबूझकर नंबर कम दिए हैं. इसके बाद शिक्षिका और छात्रों के बीच कहासुनी शुरू हो गई. देखते ही देखते पूरे क्लास रूम में हंगामा शुरू हो गया.जिसके बाद छात्रों ने क्लास रूम का दरवाजा बंद कर दिया और शिक्षिका को बंधक बना लिया. इस दौरान वह हंगामा खड़ा करते रहे.

भूपेश बघेल का CM योगी पर हमला,- प्राचीन अन्नपूर्णा मंदिर को बाबा विश्वनाथ से अलग कर रही सरकार

इधर हंगामा होता देख शिक्षिका ने विद्यापीठ के अधिकारियों को इस मामले के बारे में सूचना दी.जैसे ही चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर निरंजन सहाय, डॉक्टर नवरत्न सिंह सहित कई अन्य शिक्षक और सुरक्षाकर्मियों को इस बारे में पता चला तो वह मौके पर पहुंचे. हालांकि तब तक सभी आरोपी छात्र भाग निकले थे. बताया जा रहा है कि महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ जल्द ही आरोपी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करेगा.

बता दें कि यह पहला मामला नहीं है जब काशी विद्यापीठ से हंगामा की खबरें सामने आई हो. इससे पहले भी छात्रों और विश्वविद्यालय के बीच छोटी-छोटी बातों पर हंगामा की खबरें सामने आती रही हैं पिछले दिनों ही काउंसलिंग में देरी होने के कारण छात्रों ने हंगामा शुरू कर दिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें