BHU कर्मियों पर आरोप, कोरोना संंक्रमित की मौत के बाद चोरी हो रहे कीमती सामान

Smart News Team, Last updated: 04/05/2021 12:27 PM IST
  • बीचएयू अस्पताल प्रशासन समेत डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया गया है. कोरोना संक्रमित की लापरवाही के कारण मौत और उसका सामान चोरी करने की शिकायत दर्ज कराई गई है.  
BHU के कर्मियों पर लापरवाही का आरोप, कोरोना संक्रमित की मौत के बाद सामान भी हुआ चोरी.

वाराणसी. बीएचयू के डॉक्टरों और अस्पताल कर्मचारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया गया है. कोरोना संक्रमित महिला की मौत और उसका सामान चोरी होने का आरोप लगाते हुए उसके पति ने लंका थाने में रिपोर्ट दर्ज की है. शिकायत दर्ज कराने वाले ओम प्रकाश पांडेय के अनुसार उन्होंने अपनी 55 साल की पत्नी उर्मिला पांडेय को 30 अप्रैल को लगभग 9 बजे बीएचयू की नई बिल्डिंग में भर्ती कराया था. उनकी कोरोना संक्रमित पत्नी अस्पताल की नई बिल्डिंग के सेकेंड फ्लोर के बेड नंबर 60 पर एडमिट थीं. जिन्हें देखने के लिए उनकी बहू पूजा पांडेय गई थीं.

जब उनकी बहू अंदर पहुंची तो देखा उनकी सास बेड से नीचे गिरी हुई थीं और बिना ऑक्सीजन मास्क के छटपटा रही थी. इसकी शिकायत करने पर भी उनकी मदद के लिए वहां मौजूद कोई कर्मचारी नहीं आया. कोरोना संक्रमित को उनकी बहू ने खुद बेड पर लेटाया और ऑक्सीजन मास्क लगाकर बाहर आई. बहू ने अस्पताल के अंदर की सभी बातें महिला के पति ओम प्रकाश पांडेय को बताई. 

पंचायत चुनाव: सपा का बोलबाला, BJP से ज्यादा उम्मीदवार जीते, पढ़ें विनर लिस्ट

ओम प्रकाश पांडेय ने अपनी शिकायत में बताया कि उसकी बहू ने अपना फोन नंबर बगल के बेड मरीज के साथ वार्ड में अन्य 2-3 लोगों को दिया था. जिससे उनकी सास को कोई परेशानी हो तो उसे तुरंत पता लग जाए. इसी के साथ उसने अपनी सास को भी एक फोन दिया जिससे वह अपने परिवार से संपर्क कर सके. 

ओम प्रकाश के अनुसार एक मरीज का फोन आया था कि उनकी मरीज फिर से बेड से गिर गई हैं. इस बात की सूचना बीएचयू के प्रभारी डॉक्टक एस के माथुर को दी गई थी. साथ ही विधायक श्री सौरभ श्रीवास्तव और काशीवार्ता के पत्रकार डॉ. लोकनाथ पांडेय को भी इसकी शिकायत की गई थी कि उनकी मरीज का ठीक से ध्यान नहीं रखा जा रहा है. 

यूपी पंचायत चुनाव: BJP के गढ़ में सपा जिला पंचायत उम्मीदवारों को मिली बंपर जीत

ओम प्रकाश ने बीएचयू के डॉक्टरों और अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि लापरवाही से उनके मरीज की जान गई. इसी के साथ मरीज को दिया हुआ मोबाइल भी गायब हो गया. 

डायग्नोस्टिक सेंटर पर वैन को एंबुलेंस बनाकर चलाने का आरोप, नोटिस की तैयारी 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें