108 साल बाद कनाडा टू काशी पहुंची मां अन्नपूर्णा, CM योगी करेंगे मूर्ति की पुनर्स्थापना

Swati Gautam, Last updated: Mon, 15th Nov 2021, 1:59 PM IST
  • 107 वर्ष पहले वाराणसी से चोरी हुई माता अन्नपूर्णा की मूर्ती काशी पहुंच चुकी है. सोमवार सुबह 9:30 बजे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के साथ अन्नपूर्णा माता की मूर्ति की पुनर्स्थापना होगी.
107 साल बाद कनाडा टू काशी पहुंची मां अन्नपूर्णा, CM योगी करेंगे मूर्ति की पुनर्स्थापना

वाराणसी. सोमवार सुबह 9:30 बजे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के साथ अन्नपूर्णा माता की मूर्ति की पुनर्स्थापना होगी. जिसके बाद एक बार फिर माता अन्नपूर्णा बाबा काशी विश्वनाथ के साथ विराजमान होंगी. बता दें कि अन्नपूर्णा माता की यह मूर्ति 107 वर्ष पहले वाराणसी से चोरी हुई थी जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों के बाद कनाडा से यह प्रतिमा दिल्ली पहुंची थी. माता अन्नपूर्णा की इस प्रतिमा को देखने के भीड़ उमड़ पड़ी है सिर्फ एक बार माता अन्नपूर्णा के दर्शन करने के लिए लोग छतों पर एकत्रित हो गए हैं.

माता अन्नपूर्णा की मूर्ती की प्राण प्रतिष्ठा के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार शाम को ही वाराणसी पहुंच गए थे. प्रभारी मंत्री नीलकंठ तिवारी ने बताया कि दिल्ली से निकली मां अन्नपूर्णा की शोभायात्रा उत्तर प्रदेश के 18 जिलों से होती हुई काशी पहुंची है. यह यात्रा राम जन्मभूमि, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, जौनपुर होते हुए काशी पहुंची. जानकारी अनुसार आज यानी सोमवार को लगभग 6:30 बजे सुबह मां अन्नपूर्णा की मूर्ति वाराणसी पहुंची और दुर्गाकुंड स्थित माता कुष्मांडा के पास शोभायात्रा लोगों के दर्शन के लिए रुकी.

यूपी में गाय के लिए डायल 112 की तर्ज पर शुरू हो रही एंबुलेंस सेवा, मिलेंगी ये सुविधाएं

इस शोभायात्रा में शामिल होने और माता अन्नपूर्णा के एक बार दर्शन के लिए हजारों की संख्या में लोग सड़कों पर आ पहुंचे हैं. लोगों में माता अन्नपूर्णा को देखने का उत्साह अपने चरम पर है. इस अवसर पर चौराहों पर भजन कार्यक्रम भी चल रहा है. बता दें कि यहां से शोभायात्रा सीधे विश्वनाथ मंदिर तक जाएगी जहां पर प्राण प्रतिष्ठा किया जाएगा. मुख्यमंत्री योगी खुद इसमें शामिल होकर माता का पूजन करेंगे. हर कोई माता के चरण छूकर आशीर्वाद प्राप्त करना चाहता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें